जेल में रहकर कोई भी प्रभावित नहीं कर सकेगा चुनाव,शांति पूर्वक चुनाव संचालित करने की तैयारी पूरी

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तारीखें घोषित होने के बाद से शासन तथा प्रशासन ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। प्रदेश में इस दौरान हर जगह पर सुरक्षा भी बेहद मुस्तैद रहेगी।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने रविवार को मीडिया से चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर अपनी टीम की तैयारियों पर चर्चा की। प्रदेश पुलिस की चुनाव सेल के प्रमुख प्रशांत कुमार ने बताया कि हमने प्रदेश में शांति पूर्वक चुनाव संचालित करने की तैयारी पूरी कर ली है।

उन्होंने कहा कि चुनाव को प्रभावित करने वाले किसी भी शख्स के साथ जरा सी भी नरमी नहीं बरती जाएगी। प्रशांत कुमार ने कहा कि पहले तो लोग जेल से भी चुनाव को संचालित तथा प्रभावित कर लेते थे, इस बार ऐसा नहीं होगा। इस बार अपराधी जेल में रहकर चुनाव प्रभावित नहीं कर सकेंगे। इसके लिए तगड़े इंतजाम किए गए हैं। जेल में बंद सभी अपराधियों की गतिविधियों पर नजर रखने के आदेश दिए गए हैं। जनपद स्तर पर 275 और कारागार स्तर पर 869 अपराधी चिन्हित हैं। यह लोग अपरोक्ष रूप से जेल में रहते हुए चुनाव प्रभावित कर सकते हैं। अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा प्रदेश की जेलों में 2676 सीसीटीवी ल 271 स्टेटिक जैमर लगाए गए हैं। जिला स्तर पर 275 व कारागार स्तर पर 869 ऐसे अपराधी चिह्नित किए गए हैं, जो चुनाव में बाधा डाल सकते हैं। उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव की तैयारियां पूरी कर ली गई है।

प्रशांत कुमार ने कहा कि चुनाव की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर हम बेहद गंभीर हैं। हम निष्पक्ष, भयमुक्त और प्रलोभन मुक्त चुनाव के लिए प्रतिबद्ध हैं। प्रदेश के 403 विधानसभा क्षेत्र में 92821 मतदान केन्द्र के साथ 174351 मतदेय स्थल की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। 174351 में से 29138 मतदेय स्थलों को संवेदनशील के रूप में चिन्हित किए गए हैं। 95 विधानसभा क्षेत्र संवेदनशील के रूप में चिन्हित हैं। प्रदेश में कुल 1133894 लाइसेंसी हथियार में से 368490 लाइसेंसी हथियार जमा कराए जा चुके हैं। हर जिले में पुलिस को अपनी सभी तैयारियां पूरी करने के आदेश दिए गए हैं। इसके साथ आबकारी विभाग ने अंतरराष्ट्रीय और अंतरराज्यीय सीमाओं पर 31 चौकियां स्थापित की हैं।

प्रशांत कुमार ने बताया कि केन्द्र सरकार की तरफ से हमको 150 कम्पनी अर्द्धसैनिक बल मिल चुके हैं। 75 कम्पनी सीआरपीएफ ïका आवंटन और हुआ है, जो 10 जनवरी को मिल जाएंगे। चुनाव ड्यूटी में लगने वाले सभी पुलिस कर्मियों को वैक्सीन की डबल डोज लगाने के आदेश दिए गए हैं। समस्त पुलिस बल को एंटी कोविड किट दी जाएगी। चुनाव में आचार संहिता का पालन कराया जाएगा। इसका उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। निर्वाचन ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मियों को पोस्टल बैलेट से वोट डालने का अधिकार मिलेगा।

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा से पहले ही शनिवार को उत्तर प्रदेश पुलिस भी विधानसभा चुनाव को सकुशल निपटाने की तैयारी में लग गई। इसके लिए उत्तर प्रदेश के पुलिस मुख्यालय में चुनाव सेल भी बना लिया गया। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार को इस चुनाव सेल का प्रमुख बनाया गया है। डीजीपी मुकुल गोयल की देखरेख में उत्तर प्रदेश पुलिस का चुनाव सेल काम करेगा। इसमें एडीजी लॉ एंड आर्डर के साथ आइजी लॉ एंड आर्डर संजीव गुप्ता को भी रखा गया है। आईपीएस अधिकारी एलआर कुमार, आशीष तिवारी और अविनाश पाण्डेय को चुनाव सेल में तैनात किया गया है। इसके साथ ही सभी जिलों को एक्स्ट्रा फोर्स एलॉटमेंट की कार्यवाही शुरू की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 + ten =

Back to top button