NCP प्रमुख शरद पवार ने इस मामले में की राज्यपाल की आलोचना, पढ़े पूरी ख़बर

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की ओर से छत्रपति शिवाजी महाराज पर की गई टिप्पणी को लेकर मचा बवाल थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। गुरुवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार ने राज्यपाल की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने सारी हदें पार कर दी हैं। इसके साथ-साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार ने यह भी कहा कि ऐसे लोगों को महत्वपूर्ण पद नहीं दिए जाने चाहिए। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने औरंगाबाद में शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज ‘पुराने जमाने’ के आदर्श थे। राज्यपाल के इस बयान के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया है।  राकांपा, कांग्रेस, शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) और अन्य संगठनों के कार्यकर्ता कोश्यारी को पद से हटाए जाने की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। गरीमा की सारे हदें पार कर दी हैं मीडिया से बात करते हुए पवार ने कहा, ‘जब मैने छत्रपति शिवाजी के बारे में उनकी टिप्पणी सुनी… अब उन्होंने सारी हदें पार कर दी है। उन्होंने कल शिवाजी महाराज की प्रशंसा की थी, लेकिन यह उन्हें देर से समझ आया है। मुझे लगता है कि राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को (कोश्यारी के बारे में) फैसला लेना चाहिए। ऐसे लोगों को महत्वपूर्ण पद नहीं दिए जाने चाहिए।’  एनसीपी सुप्रीमो ने कहा कि राज्यपाल का पद एक संस्था का प्रतिनिधित्व करता है और उस पद की गरिमा बनाए रखने के लिए हमने कोश्यारी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की थी। टिप्पणी पर मचे राजनीतिक घमासान के बीच राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी गुरुवार को दो दिवसीय दिल्ली दौर पर हैं। कांग्रेस ने की नया राज्यपाल नियुक्त करने की मांग कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र के लिए नया राज्यपाल नियुक्त किया जाना चाहिए और छत्रपति शिवाजी महाराज पर टिप्पणी के लिए भगत सिंह कोश्यारी को उनके पद से हटा दिया जाना चाहिए। चव्हाण ने दावा किया कि यह पहली बार नहीं है जब राज्यपाल ने ऐसा विवादास्पद बयान दिया है, और कहा कि संवैधानिक पद संभालने वाले व्यक्ति का ऐसी टिप्पणी करना अनुचित है। पद से हटाने के लिए विवादित बयान? राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजित पवार ने बुधवार को दावा किया कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें बताया कि वह अपने पद को छोड़ना चाहते हैं। मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में कोश्यारी की हाल की टिप्पणियों से असहमति जताते हुए उन्होंने यह भी पूछा कि क्या कोश्यारी केंद्र सरकार को उन्हें महाराष्ट्र से हटाने के लिए विवश करने के वास्ते ऐसे विवादित बयान दे रहे थे।

Related Articles

Back to top button