मस्क ने ट्वीट कर बतया की दूसरा बूस्टर डोज लगवाने के बाद कई दिनों तक लगा कि मर रहा हूं..

भारत सहित दुनिया भर में कोरोना टीकों के दुष्प्रभावों पर बहस जोर पकड़ रही है। इस बीच ट्विटर के सीईओ एलन मस्क ने भी शनिवार को कहा कि कोरोना टीके का दूसरा बूस्टर लगाने पर उन्हें कई दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ा। मस्क ने ट्वीट किया, दूसरा बूस्टर डोज लगवाने के बाद कई दिनों तक लगा कि मर रहा हूं।

मस्क बोले- चचेरा भाई अस्पताल में हुआ भर्ती

मस्क ने कहा कि पहला एमआरएनए बूस्टर ठीक था, लेकिन दूसरे बूस्टर डोज के बाद मेरी हालत खराब हो गई। इससे पहले विश्व आर्थिक मंच की बैठक के दौरान कोरोना टीके के दुष्प्रभावों को लेकर जब फाइजर के सीईओ अल्बर्ट बोरला से सवाल पूछे गए तो वह जवाब देने से बचते नजर आए। मस्क ने यह भी बताया कि उनके चचेरे भाई को कोरोना का टीका लगवाने के बाद अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था।

फाइजर के सीईओ पर उठे थे सवाल

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम  की बैठक के दौरान हाल ही में कोरोना वैक्सीन निर्माता कंपनी फाइजर के सीईओ अल्बर्ट बोरला ने वैक्सीन की प्रभावशीलता के बारे में मुश्किल सवालों को टाल दिया था। बोरला ने किसी भी सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया और इसके बजाय बार-बार “बहुत बहुत धन्यवाद” बोलते रहे थे।

दुनिया भर में वैक्सीन पर अलग-अलग दावे

भारत समेत दुनिया भर में कोविड वैक्सीन को लेकर अलग अलग दावे किए जा रहे हैं। इस बीच भारत सरकार ने इस सप्ताह की शुरुआत में पुष्टि की थी अलग-अलग कोविड-19 टीकों को लगाने के बाद किसी भी तरह का कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, दुर्लभ रूप से, कुछ व्यक्तियों को कुछ पूर्वगामी स्थितियों के आधार पर गंभीर प्रतिकूल घटनाओं का अनुभव हो सकता है।

Related Articles

Back to top button