मां-बाप के सामने नाबालिग का गैंगरेप! गिड़गिड़ाते रहे मां-बाप, हैवान करते रहे गैंगरेप

ग्रामीण ने बताया कि उसका बेटा प्रेम प्रसंग के चलते गांव की एक लड़की के साथ भाग गया था, जिसके बाद लड़की के घर वालों ने उसकी 16 साल की नाबालिग बेटी के साथ 8 लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। यहां छजलैट थाना क्षेत्र इलाके में रहने वाले एक ग्रामीण ने आरोप लगाया कि उसकी 16 साल की नाबालिग बेटी के साथ गांव के ही 8 लोगों ने उसके ही नजरों के सामने गैंगरेप किया है। ग्रामीण ने बताया कि उसका बेटा प्रेम प्रसंग के चलते गांव की एक लड़की के साथ भाग गया था, जिसके बाद लड़की के घर वालों ने उनके घर आकर उनके साथ मारपीट की और उसे और उसकी पत्नी को जबरन गाड़ी में डालकर अज्ञात स्थान पर ले गए फिर उसकी 16 साल की नाबालिग बेटी को कॉल कर बुलवाया और फिर उनकी नजरों के सामने ही अमरोहा रेलवे स्टेशन के पास एक घर में ले जाकर उसके साथ एक-एक कर 8 लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया।

पति-पत्नी रोते रहे, गिड़गिड़ाते रहे लेकिन दबंगों ने उन पर जरा सा भी रहम नहीं खाया और बाद में उनकी 16 साल की नाबालिग बेटी का विवाह अपने ही परिवार के एक उम्रदराज व्यक्ति से करा दिया। 7 दिन तक बेटी के साथ गैंग रेप होता रहा। 7 दिन बाद पीड़ित पिता थाना छजलेट पहुंचा और तहरीर दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

इस बीच मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक-ग्रामीण विद्यासागर मिश्र ने जानकारी ने दावा किया कि गैंगरेप का शिकार नाबालिग लड़की आरोपी युवक के साथ ही छजलैट थाने ख़ुद पहुंच गई और उसने पुलिस को बयान दिया है कि उसके साथ कोई गैंगरेप नहीं हुआ है और ना ही कोई उसके साथ किसी तरह का दुर्व्यवहार हुआ है।

लेकिन गैंगरेप का शिकार नाबालिग पीड़िता ने अब सामने आकर आरोप लगाया है कि उसने ऐसा कोई भी बयान नहीं दिया है। पीड़िता का कहना है कि उसे अपहरण करने वाले लोग ही छजलैट थाने छोड़कर चले गए थे। पीड़िता ने आगे बताया कि थाने में तैनात सब-इंस्पेक्टर विपिन ने उसे धमकाया कि अगर तुमने यह कहा कि तुम्हारी शादी हो गई है तो तुम्हें जेल भेज दिया जाएगा। पीड़िता का कहना है कि उसके साथ रेप हुआ है और पुलिस ने उसका मेडिकल भी नहीं कराया और एक कोरे कागज पर उसके साइन करा लिए।

अब पीड़िता का बयान सामने आने के बाद मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण विद्यासागर मिश्रा का बयान सवालों के घेरे में आ गया है। अब यह साबित होना बाकी है कि नाबालिग गैंगरेप पीड़िता झूठ बोल रही है या फिर मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण विद्यासागर मिश्रा अपने विभाग की नाकामी छुपाने के लिए आधा-अधूरा बयान मीडिया को जारी कर गुमराह कर रहे हैं। फिलहाल इस मामले में पीड़िता ने मुरादाबाद के एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है।

मुरादाबाद से शारिक सिद्दकी की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − two =

Back to top button