कोआपरेटिव बैंक उपलब्ध करा रहा आधुनिक बैंकिंग सुविधाएं -राठौर

उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक के हजरतगंज स्थित मुख्यालय परिसर में जेपीएस राठौर, सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को कोआपरेटिव बैंक की 13 नई शाखाओं जिनमें फतेहपुर,मधुरा, गौतमबुद्धनगर, कानपुर देहात, कन्नौज, संभल, ज्योतिबा फूले नगर, हापुड़, अम्बेडकर नगर, अमेठी, गोरखपुर, महराजगंज एवं औरैया का शुभारम्भ किया गया। बैंक की 27 शाखाएं पूर्व से ही संचालित है। इस दौरान बैंक के सभापति तेजवीर सिंह, प्रमुख सचिव, सहकारिता बी.एल. मीणा, अपर आयुक्त एवं अपर निबन्धक (बैंकिंग) बी.चन्द्रकला तथा शीर्ष सहकारी संस्थाओं के अध्यक्ष व विभागीय अधिकारी एवं बैंक के प्रबन्ध निर्देशक वी.के.मिश्र सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

लखनऊ (आरएनएस

उदघाटन समारोह में जेपीएस राठौर, सहकारिता राज्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि पूर्व से संचालित कोआपरेटिव बैंक की 27 शाखाओं में  करीब 2 लाख 12 हजार खाते खुले हुए हैं, तथा अब 13 नई शाखाओं के माध्यम से इसी साल दिसम्बर तक खातों की संख्या को 5 लाख करने का लक्ष्य रखा गया है और अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुँचकर निक्षेपों तथा ऋण वितरण को बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। आगे बोले कि वर्तमान में बैंक द्वारा मुख्यत व्यक्तिगत ऋण 10 लाख और कार ऋण 20 लाख तथा गृह ऋण 30 लाख तक जिसे बढ़ाकर अब 75 लाख किया जा रहा है। इसके साथ अचल सम्पत्ति के लिए ॠण 30 लाख, बिजनेस टर्म व ट्रेडर्स लोन 40 लाख तक लोन स्वीकृत किये जा रहे हंै। उन्होंने कहा कि भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश सरकार की विभिन्न सामाजिक योजनाओं जिनमें प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में अधिकतम 2 लाख तक, अटल पेंशन योजना में अधिकतम 50,000, पीएम स्ट्रीट वेन्डर्स आत्मनिर्भर योजना में 50,000 तक लोन दिए जा रहे हैं। साथ ही महिला सशक्तिकरण के लिए मिशन शक्ति योजना को जनता तक पहुँचाना एवं ग्राहकों की संख्या को बढ़ाना है। इसके अलावा बैंक द्वारा डेरी, मुर्गी पालन, मत्स्य पालन, एग्री बिजनेस एवं एग्रो क्लीनिक्स, रिन्यूएबल एनर्जी के तहत सोलर पैनल लगवाने के लिए भी ऋण प्रारम्भ किये जा रहे हैं। इसी तरह एसएलबीसी के माध्यम से प्रयास करके जनधन योजना के तहत भी ज्यादा से ज्यादा नये खाते खोलने के प्रयास किये जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक मुख्यालय के साथ ही जनपद-गोण्डा, हापुड़ मथुरा गौतमबुद्धनगर, अमरोहा व कानपुर में मोबाइल एटीएम बैन की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। ताकि जन-जन के दरवाजे तक पहुँचकर बैंकिंग सुविधाओं का लाभ प्रदान किया जा सके। वहीं, बैंक ग्राहकों को नेट बैंकिंग, एटीएम, पॉश मशीन आदि नवीन तकनीक आधारित सुविधाएं उपलब्ध कराकर बैंकिंग व्यवस्था को सुगम एवं अनुकूल बनाने के लिए प्रयासरत है, तथा निकट भविष्य में बैंक बीबीपीएस, यूपीआई मोबाइल बैंकिंग आदि की सुविधाएं भी ग्राहकों को उपलब्ध कराने के लिए हम प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि उप्र. कोआपरेटिव बैंक पूर्व की 27 व नवीन 13 शाखाओं को मिलाकर कुल 40 शाखाएं हैं जिसे इसी साल बढ़ाकर 50 शाखाएं करने का लक्ष्य बनाया जाएगा तथा आने वाले पांच सालों में शाखाओं की संख्या 100 तक करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। अंत में क हा कि कोआपरेटिव बैंक की सभी शाखाओं के जरिये ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को जोड़कर उन्हें आधुनिक बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है।

Rashtriya News 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × two =

Back to top button