प्रखाद्य एवं रसद राज्य मंत्री सतीश शर्मा का सच से हुआ सामना

अमेठी जिले में प्रखाद्य एवं रसद राज्य मंत्री सतीश शर्मा के सामने राशन और पेंशन वितरण की पोल खुल गई। महिलाओं ने सरकार के दावे की पोल खोल दी। 

अमेठी जिले के एक दिवसीय भ्रमण पर आए प्रखाद्य एवं रसद राज्य मंत्री सतीश शर्मा का सच से सामना हुआ। उनके सामने सरकार के महीने में दो बार राशन वितरण के दावे की पोल खुल गई। गांव की महिलाओं ने मंत्री से कहा कि पिछले तीन चार महीने से सिर्फ एक बार ही राशन मिल रहा है। इस पर मंत्री ने नाराजगी जाहिर की। बाद में उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर जनपद में चल रही शासकीय योजनाओं का फीडबैक लिया। इसके साथ ही सांसद आदर्श ग्राम, गोशाला, और अस्पताल का निरीक्षण भी किया।

सांसद आदर्श ग्राम सुजानपुर में मंत्री ने पेयजल परियोजना का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि जहां कार्य पूर्ण हो गए हैं उनका एक साथ शुभारंभ कराने की व्यवस्था बनाई जाए। उन्होंने यहां एक पीपल का पौधा भी रोपा। यहां से निकलकर मंत्री कंपोजिट स्कूल सुजानपुर पहुंचे। यहां उच्च प्राथमिक स्कूल में उन्होंने कक्षा आठ में बच्चों से मुलाकात की। मंत्री को छात्रा ने संस्कृत का श्लोक भी सुनाया। बाहर निकलकर मंत्री ने छात्राओं को बैग और पुस्तक भी वितरित की। बाहर निकलने पर ग्रामीणों ने मंत्री को घेर लिया। महिलाओं से मंत्री ने निशुल्क राशन मिलने संबंधी सवाल किया। जिस पर श्याम पती, हसीना बानो, फातिमा आदि महिलाओं ने कहा कि एक बार फ्री राशन मिलता है। तीन महीना पहले दो बार मिलता था लेकिन अब एक बार मिलता है। डीएम ने डीएसओ को आवाज लगाई लेकिन वे मौके पर नहीं मिले। पेंशन के बाबत पूछने पर वृद्ध महिलाओं ने कहा कि पेंशन नहीं मिलती। जिस पर मंत्री ने गांव में चौपाल लगाए जाने की बात कही। सीडीओ डा. अंकुर लाठर ने कहा कि गांव में फिर चौपाल लगाकर समस्याओं का समाधान कराया जाएगा। राज्यमंत्री ने जिला अस्पताल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने डायलिसिस यूनिट का हाल जाना। मरीजों से मिलकर उनसे सुविधाओ के बारे में जानकारी ली। इसके बाद कोविड सेंटर का जायजा लिया। उन्होंने अमृत सरोवर का भी निरीक्षण किया। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

13 + five =

Back to top button