मालीवाल ने श्रद्धा की हत्या के लिए इसे ठहराया जिम्मेदार, कहा…

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने श्रद्धा वाकर मर्डर केस पर अपना बयान दिया है। मालीवाल ने श्रद्धा की हत्या के लिए देश के सिस्टम को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, जब तक देश का सिस्टम इस तरह खोखला रहेगा, लड़कियां इसी तरह मरती रहेंगी। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष, मालीवाल ने 2020 में श्रद्धा द्वारा की गई शिकायत के बाद हुई जांच पर भी सवाल उठाए हैं। मालीवाल ने कहा, उस वक्त पुलिस ने एक्शन क्यों नहीं लिया। दरअसल मई महीने में दिल्ली के महरौली इलाके में आफातब पूनावाला ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर की गला घोटकर हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद आफताब ने श्रद्धा के शरीर के 35 टुकड़े कर जंगल में फेंक दिया था। 23 नवंबर, 2020 को श्रद्धा ने पुलिस में शिकायत की थी। श्रद्धा ने शिकायत में लिखा था किस तरह आफताब उसे गालियां देता है और उसे मारकर टुकड़ों में काट देने की धमकी देता है। श्रद्धा ने शिकायत पत्र में लिखा था कि, आफताब ने उस दिन उसे मारने की कोशिश  की थी। श्रद्धा ने लिखा था,”पूनावाला मुझे मारता है और गालियां देता है, और आज उसने मुझे गला दबाकर जान से मारने की कोशिश की है, वो मुझे धमकाता है कि मुझे मारकर टुकड़े कर फेंक देगा, छह महीने से वो मुझे पीट रहा है, मेरे अंदर पुलिस में जाने की हिम्मत नहीं हो रही है क्योंकि वो मुझे जान से मार देगा” वाकर ने शिकायत पत्र  में लिखा था कि, आफताब के माता-पिता इस पूरे मामले को जानते थे। महाराष्ट्र आशीष शेलार ने श्रद्धा की 2020 में की गई शिकायत पर जांच बंद करने को लेकर भी सवाल खड़ा किया है। 2020 के शिकायत पत्र के सार्वजनिक होने के बाद महाराष्ट्र के बीजेपी अध्यक्ष ने महाराष्ट्र पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़ा किया है। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने भी श्रद्धा द्वारा की गई शिकायत के बाद की जांच पर संदेह व्यक्त किया है और कहा कि, उस वक्त एक्शन क्यों नहीं लिया गया इस पर एक इंक्वायरी कराई जाएगी। फड़णवीस ने कहा कि,” मैनें श्रद्धा का 2020 वाला शिकायत पत्र देखा, श्रद्धा ने गंभीर आरोप लगाए थे, उस वक्त पुलिस ने कोई एक्शन क्यों नहीं लिया इस मामले पर एक इंक्वायरी शुरू की जाएगी” महाराष्ट्र पुलिस ने बुधवार को बताया कि, केस की जांच को श्रद्धा के केस वापस ले लेने के कारण बंद कर दिया गया था। मीरा भयंदर-वसई विरार के डीसीपी सुहास बवाचे ने कहा कि, श्रद्धा ने केस बंद करने के लिए एक लिखित स्टेटमेंट दी थी। उन्होंने बताया कि श्रद्धा ने लिखा था कि, उसके और आफताब के बीद विवाद खत्म हो गया है।

Related Articles

Back to top button