लखनऊ पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 20 हजार के इनामी गैंगस्टर को धर दबोचा

गोमतीनगर में सहारा हास्पिटल ओवरब्रिज के पास पुलिस और बदमाश के बीच शनिवार सुबह मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान बाएं पैर में गोली लगने से बदमाश सिराज घायल हो गया। उसे गंभीर हालत में लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सिराज 20 हजार का इनामी है। उसके खिलाफ विभिन्न थानों में चोरी समेत 22 मुकदमे दर्ज हैं। लंबे समय से पुलिस को सिराज की तलाश थी।

डीसीपी पूर्वी प्राची सिंह ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश मूल रूप से सुलतानपुर अमहट को गोरा वारिक गांव का रहने वाला है। यहां मड़ियांव में भिठौली खुर्द आइआइएम रोड पर रह रहा था। डीसीपी के मुताबिक पुलिस को लंबे समय से सिराज की तलाश थी। मुखबिर की सूचना पर सहारा हास्पटिल के आस पास क्राइम टीम और गोमतीनगर इंस्पेक्टर दिनेश चंद्र मिश्र व उनकी टीम को लगाया गया था। इस बीच बाइक से पीठ पर बैग लादे हुए सिराज अपने साथी के साथ आते दिखा.

पुलिस टीम ने उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने गाड़ी फायरिंग शुरू कर दी और बाइक छोड़कर झाड़ियों के पास जा छिपा। इस बीच उसका साथी मौका पाते ही भाग निकला। पुलिस टीम ने घेराबंदी कर जवाबी फायरिंग की तो भागते समय सिराज के बाएं पैर में गोली लगी और वह गिर गया। सिराज के पास से तमंचा, बाइक और सोने-चांदी के जेवर बेल्चा, लोहे का राड और कारतूस बरामद किए गए हैं। सिराज के खिलाफ चोरी, हत्या समेत 22 मुकदमे लखनऊ और सुलतानपुर के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। सिराज के गिरोह के अन्य बदमाशों की तलाश की जा रही है।

दिन में रेकी कर रात में करता था वारदात : एडीसीपी पूर्वी सैयद अली अब्बास ने बताया कि सिराज और उसके गिरोह के लोग आटो और साइकिल से कालोनियों में दिन में बंद घरों की रेकी कर रात में वारदात को अंजाम देते थे। सिराज बहुत ही शातिर है। वह मिनटों में तिजोरी तोड़कर उसका सामान निकालकर भाग निकलता था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 + twenty =

Back to top button