स्थानीय निकाय निदेशक ने प्रदेश के नगरीय निकायों में सफाई व सेनेटाइजेशन के दिये निर्देश

आगामी त्योहारों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के नगरीय निकायों में साफ-सफाई व सेनेटाइजेशन सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय निकाय निदेशक नेहा शर्मा ने स्थानीय निकाय निदेशालय में संबंधित अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की। इस मौके पर निदेशक ने प्रदेश के शहरों के मुख्य बाजारों, प्रमुख सार्वजनिक स्थलों, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन,सांस्कृतिक एवं पर्यटक स्थलों पर दैनिक रूप से दो पालियों में सफाई एवं कूड़े की उठान प्राथिमकता पर किए जाने के निर्देश दिए।

लखनऊ(आरएनएस)

उन्होंने कहा कि आगामी दीपावली और छठ पूजा के त्योहारों को देखते हुए साफ-सफाई के लिए विशेष अभियान चलाए जाए। कहा कि त्योहारों के दौरान शहरों में होने वाले विशेष आयोजनों जैसे मेला आदि में सफाई की विशेष व्यवस्था की जाए। साथ ही आयोजकों की जिम्मेदारी तय कर यह सुनिश्चित किया जाए कि इन आयोजनों में प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि जीरो वेस्ट इवेंट हो। बैठक में स्थानीय निकाय निदेशक के साथ उपनिदेशक रश्मि सिंह, उपनिदेशक स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय)डॉ.सुनील कुमार सिंह,सहायक निदेशक डॉ. सरिता शुक्ला के साथ मुख्य अभियंता (टेक्नीकल सेल) राजवीर सिंह मौजूद रहे। साथ ही प्रदेशभर के नगर निकायों के अधिशासी अधिकारियों के साथ-सफाई सेवा के अधिकारी भी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जुड़े। कार्ययोजना के रूप में कई दिशा-निर्देश दिये गये जिनमें शहर के मुख्य बाजारों, प्रमुख सार्वजनिक स्थलों,बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, सांस्कृतिक एवं पर्यटक स्थलों पर दैनिक रूप से दो पालियों में सफाई एवं कूड़े का उठान प्राथिमकता पर करने,निकाय स्तर पर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सक्षम स्तर के अधिकारी व कर्मचारी,कूड़ा उठाने वाले वाहन,मशीन व अन्य उपकरणों के साथ प्रत्येक मोहल्लों व वार्डों की सड़कों और गलियों की सफाई के लिए सफाईकर्मी अपनी-अपनी बीट के अनुसार निकाय क्षेत्र में निकलें। 4-5 वार्डों को जोन,क्लस्टर जो पूर्व में बनाये गये हैं उनके पर्यवेक्षणीय अधिकारी तथा संबंधित वार्ड के बीट इंचार्ज,सफाई नायक,सफाई सुपरवाइजर, सफाई निरीक्षक का नाम, पदनाम, मोबाईल नं. एवं निकाय के कंट्रोल रूम का दूरभाष नं. मुख्य स्थलों पर वॉल राइटिंग या फलैक्स बोर्ड पर प्रदर्शित की जाए, शत-प्रतिशत घरों से कूड़े कलेक्शन एवं पृथक्कीकरण दैनिक रूप से सुनिश्चित किया जाये। जीवीपी को शत-प्रतिशत समाप्त करते हुए उसका सौन्दर्यीकरण कराया जाये। दो पालियों में सफाई करायी जाए इसमें रात में सफाई भी सम्मिलित हो। रिहायशी इलाकों में ठीक तरह सफाई सुनिश्चित करायी जाए। प्लाटों में पड़े कूड़े की सफाई करायी जाए। कू ड़ेदान ठीक प्रकार से स्थापित रहें व तयशुदा अवधि पर खाली कराया जाए। यह तय किया जाए कि कूड़ेदान के बाहर इधर-उधर कूड़ा न बिखरा रहे। सार्वजनिक, सामुदायिक शौचालयों एवं मूत्रालयों का रख-रखाव,सफाई व सुचारू संचालन सुनिश्चित किया जाए। सड़कों के किनारे उगी घास एवं वनस्पतियों को नियमित रूप से हटवाया जाये एवं रोकथाम के लिए पेवमैंट बनाया जाए। निकाय की समस्त बस्तियों में शुद्ध पेयजल की नियमित व्यवस्था करायी जाए। नलकूपों की मुख्य पाइपलाइनों से बस्तियों में होने वाली जलापूर्ति की क्षतिग्रत पाइपलाइनों की मरम्मत एवं जल रिसाव वाले स्थान चिन्हित कर उसकी मरम्मत करायी जाये जिससे बस्तियों में स्वच्छ जल आपूर्ति हो सके। नगर निकाय निदेशालय द्वारा प्रदेश के नगर निकायों में नागरिक सुविधाओं के सुचारू संचालन तथा कार्यक्रमों के सफल क्रियान्वयन एवं जन शिकायतों के प्रभावी निस्तारण के लिए शुरू की गई डेडिकेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर टोल फ्री नम्बर-1533 पर प्राप्त शिकायतों का तत्काल गुणवत्तापूर्ण निस्तारण की कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। उत्तर प्रदेश सरकार अनुभाग-7 के द्वारा प्लास्टिक अपशिष्ट के सम्बन्ध में निर्गत नोटिफिकेशन 15 जुलाई-2018 के प्रावधानों के अनुसार प्लास्टिक के विरूद्ध अभियान चलाकर जब्त किये जाने व जुमार्ना वसूल किये जाने के लिए जन सहभागिता, जागरूकता व व्यवहार परिवर्तन विषयक अभियान व्यापक स्तर पर चलाया जाए।

Tags : #UPNews #UttarPradesh #Lucknow #SwachhUP #LocalBodyDirector #NehaSharma #NagarVikashUP #Hindinews

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button