जानिए किन राज्यों में हो सकती है बारिश,साथ ही कब तक होगी मानसून की विदाई

मौसम विभाग की मानें तो अभी तीन-चार दिन और बारिश का मौसम बना रहेगा अब तक देश के कई हिस्सों से मानसून की विदाई नहीं हुई है। मौसम विभाग की मानें तो बिहार यूपी झारखंड सहित कई राज्यों में गुरुवार को भी बारिश होगी।

उत्तर भारत और उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में बीते कुछ समय से बिन मौसम बरसात का दौर जारी है। मौसम विभाग की मानें तो अभी तीन-चार दिन और बारिश का मौसम बना रहेगा, क्योंकि अब तक देश के कई हिस्सों से मानसून की विदाई नहीं हुई है।

मौसम विभाग की मानें तो बिहार, यूपी, झारखंड बंगाल समेत देश के कई हिस्सों में आज यानी गुरुवार को भी बारिश होगी। दिल्ली एनसीआर के मौसम की बात करें तो गुरुवार को बादल छाए रहेंगे और मौसम ठंडा रहेगा।

मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों के दौरान तमिलनाडु में और अगले दो दिनों के दौरान कर्नाटक के कुछ हिस्सों और रायलसीमा में भारी बारिश की अलर्ट जारी किया है। दिल्ली-एनसीआर में बीते कुछ दिनों से हुई भारी बारिश की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, जिसकी वजह से सुबह-सुबह लोगों ने सर्दी का एहसास हो रहा है। दिल्ली-एनसीआर और यूपी के कई इलाकों में गुरुवार सुबह कोहरा देखा गया। हालांकि, बिहार में आज भी मौसम बारिश वाला ही बना रहेगा।

आज इन राज्यों में हो सकती है बारिश

मौसम संबंधी जानकारी बताने वाली वेबसाइट स्काईमेट के मुताबिक, आज यानी 13 अक्टूबर को बिहार, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। इतना ही नहीं, उत्तर प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, तेलंगाना, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश केरल, लक्षद्वीप, सिक्किम और पूर्वोत्तर भारत में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं मौसम विभाग ने देश के 24 राज्यों में येलो अलर्ट जारी किया है।

अक्टूबर में क्यों हो रही है इतनी बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी के उपर बने कम दबाव के क्षेत्र व पश्चिमी विक्षोभ के कारण देश के कई हिस्सों में अक्टूबर में बारिश हो रही है। देश के कई हिस्सों में अब भी मानसून की विदाई नहीं हुई है और आज की तारीख में दक्षिणी पश्चिमी मानसून की उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के कुछ और हिस्सों से अगले तीन से चार दिन में विदाई के अनुकूल स्थितियां बनेंगी।मौसम विभाग के ताजा अपडेट्स के मुताबिक, एक चक्रवाती परिसंचरण कोमोरिन क्षेत्र और आस-पड़ोस के निचले क्षोभमंडल स्तरों में बना हुआ है। एक चक्रवाती परिसंचरण उत्तरी अंडमान सागर के ऊपर निचले क्षोभमंडल स्तरों में बना हुआ है। इसके अगले 2-3 दिनों के दौरान पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। इन मौसम प्रणालियों के कारण 13 से 17 अक्टूबर के बीच तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भारी बारिश और गरज के साथ बिजली गिरने की संभावना है।

कब तक होगी मानसून की विदाई

मौसम में आए बदलाव और अक्टूबर में अब तक हुई बारिश के बारे में मौसम विभाग का कहना है कि अभी भी देश के कई हिस्सों में मानसून की विदाई नहीं हुई है। मध्य भारत से मानसून की विदाई का पूर्वानुमान 15 से 16 अक्टूबर के करीब का है। ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हो रहा है। यह पिछले कई सालों से हो रहा है। अभी जो बरसात हुई है या कुछ जगहों पर हो रही है यह पश्चिमी विक्षोभ के कारण हो रही है। देश के कुछ हिस्सों में पश्चिमी विक्षोभ की स्थिति अभी बनी हुई है लेकिन साथ ही उत्तर भारत में बादल कम होने लगे हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 2-3 दिनों में मानसून कमजोर हो जाएगा। देश के अधिकांश हिस्सों से मानसून के वापसी की परिस्थितियां अनुकुल बन रही है। वहीं आईएमडी ने 30 सितंबर को घोषणा की थी कि पंजाब, चंडीगढ़ दिल्ली, जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्से, हरियाणा और राजस्थान से मानसून की वापस हो चुकी है।

दिल्ली-एनसीआर में कैसा रहेगा मौसम

मौसम विभाग के मुताबिक, गुरुवार को भी दिल्ली में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, लेकिन वर्षा होने के आसार नहीं है। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान रह सकता क्रमश: 32 और 19 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

Related Articles

Back to top button