जानिए किस मामले में  गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 10 दिनों के लिए एनआईए की कस्टडी, पढ़े पूरी ख़बर

चर्चित पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में आरोपी कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई अभी कई राज उगल सकता है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को गैंगस्टर लॉरेंस की कस्टडी मिल गई है। दिल्ली की एक अदालत ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 10 दिनों के लिए एनआईए की कस्टडी में भेजे जाने का आदेश दिया है। बताया जा रहा है कि अदालत में एनआईए ने कहा कि मूसावाला हत्याकांड का विदेशी कनेक्शन है। मामले में बड़ी साजिश का अंदेशा है। मूसेवाला हत्याकांड में पूछताछ की जरूरत है। एनआईए ने आशंका जताई है कि लॉरेंस बिश्वनोई के पास पाकिस्तान से हथियार आ रहे हैं। जांच एजेंसी गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की आतंकी संगठनों से लिंक की जांच कर रही है। कहा जा रहा है कि जांच एजेंसी की रडार पर कई पंजाबी गायक और संगीतकार हैं। अब गैंगस्टर बिश्नोई की कस्टडी मिलने के बाद एनआईए दिल्ली मुख्यालय में उसे लाकर उससे अहम पूछताछ कर सकती है। लॉरेंस बिश्नोई पंजाब के बठिंडा जेल में बंद था और पंजाब पुलिस ने इससे पहले बुधवार को जानकारी दी थी कि एनआईए लॉरेंस बिश्नोई को किसी मामले में हिरासत में ले सकती है। इसी साल जून में पंजाब पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई को गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पूछताछ के लिए दिल्ली लेकर आई थी। लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ हत्या, फिरौती समेत अन्य कई गंभीर मामले दर्ज हैं। अब तक की जांच में यह भी सामने आया है कि पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या बिश्नोई के इशारे पर ही हुई थी। इस मामले में पंजाब पुलिस लगातार उससे पूछताछ कर रही है। अब जब एनआईए को लॉरेंस बिश्नोई की हिरासत मिली है तो जांच एजेंसी उससे टेरर फंडिंग के मामले में पूछताछ कर सकती है। कहा जाता है कि बिश्नोई और उसके गिरोह के सदस्य जेल में आतंकवादी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन के मोबाइल का इस्तेमाल कर चुके हैं। कुल मिलाकर कभी सलमान खान को जान से मारने की धमकी दे चुके गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की मुश्किलें अब काफी बढ़ सकती हैं। उसपर यूएपीए के तहत भी केस दर्ज है। एनआईए पिछले कुछ दिनों से लगातार टेरर फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई कर रही है।

Related Articles

Back to top button