जानिए Spicejet ने अपने पायलटों को क्या बड़ा तोफा दिया..

Spicejet ने अपने पायलटों को बड़ा तोहफा दिया है। विमानन कपंनी ने पायलटों की सैलरी बढ़ा दी है। अब हर महीने पायलटों को 80 घंटे की फ्लाइट के लिए सात लाख रुपये दिया जाएगा। स्पाइसजेट ने पिछले महीने 80 पायलटों को लिव विदआउट पर भेज दिया था।

स्पाइसजेट ने अपने पायलटों को दिवाली में बड़ा तोहफा दिया है। विमानन कंपनी ने पायलटों की सैलरी स्ट्रक्चर में बदलाव करते हुए उनकी मासिक सैलरी में इजाफा करने की घोषणा की है।

बता दें कि अब पायलटों को हर महीने 80 घंटे की फ्लाइट के लिए सात लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा। सैलरी में बढ़ोतरी 2 नवंबर 2022 से लागू की जाएगी।

स्पाइसजेट ने 80 पायलटों को भेजा था छुट्टी पर

गौरतलब है कि स्पाइसजेट ने पिछले महीने अपनी आर्थिक हालत का हवाला देते हुए अपने 80 पायलटों को बिना वेतन यानि की लीव विदआउट पे पर भेज दिया था। इन पायलटों को तीन महीने तक लीव विदआउट पे पर रहना पड़ा था। इन 80 पायलटों में से 40 पायलट B737 एयरक्राफ्ट के थे, जबकि Q400 एयरक्राफ्ट के 40 पायलट थे।

इस फैसले के ठीक एक महीने बाद ही स्पाइसजेट के सभी पायलटों की सैलरी में बड़ा हाइक देकर कंपनी ने चौंका दिया है। हालांकि, कंपनी ने अपने बयान में बताया था कि इन पायलटों की छंटनी नहीं बल्कि अस्थायी तौर पर छुट्टी पर भेजा गया था। जिससे कंपनी को लागत कम करने और खर्च घटाने में मदद मिलेगी।

न्यूज एंजेंसी आइएनएस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले महीने स्पाइसजेट ने पायलटों की सैलरी में 6 फीसद का इजाफा किया था। अब अक्टूबर में 20 प्रतिशत का हाइक कंपनी दे रही है।

स्पाइसजेट का ECLGS लोन हुआ मंजूर

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से 2 सितंबर को बताया था कि केंद्र सरकार की ECLGS क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत कंपनी को 225 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी।स्पाइसजेट के चीफ फ्लाइट ऑपरेशन गुरचरण अरोरा ने कहा कि केंद्र सरकार की ECLGS क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत का लोन मंजूर हो गया है। इसकी पहली किस्त हमें मिल गई है। हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि कंपनी को इसमें कितना पैसा मिला है।

Related Articles

Back to top button