जानिए भारत में टीकाकरण अभियान के महत्वपूर्ण पड़ाव के बारे में..

भारत ने कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। भारत में अब तक 219 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। आइए जानते हैं टीकाकरण अभियान के महत्वपूर्ण पड़ाव के बारे में…

भारत में कोविड-19 टीकाकरण अभियान अपने अंतिम चरण में है। इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय ने फैसला किया है कि वह अब और टीकों को नहीं खरीदेगा। उसने 2022-23 के बजट में आवंटित 4237 करोड़ की राशि भी लौटा दी है। बताया जा रहा है कि केंद्र और राज्यों के पास अभी भी 1.8 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज उपलब्ध है, जो लगभग छह महीने तक टीकाकरण अभियान जारी रखने के लिए पर्याप्त है। 

16 जनवरी 2021 को टीकाकरण की शुरुआत

भारत में कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी 2021 से हुई थी। पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया था। दूसरे चरण में, 2 फरवरी 2021 से फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगनी शुरू हुई थी। तीसरे चरण में, एक मार्च 2021 से 60 वर्ष से ऊपर और 45-59 आयु वर्ग के गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हुआ था। 

भारत में अब तक 219 करोड़ से अधिक वैक्सीनेशन

इसी बीच, कोरोना की दूसरी लहर हावी होने लगी, जिसे देखते हुए केंद्र सरकार ने एक अप्रैल 2021 से 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगाने का निर्देश दिया। अगर कुल वैक्सीनेशन की बात करें तो अब तक 2 अरब 19 करोड़ 33 लाख 43 हजार 651 वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। 

भारत में टीकाकरण अभियान

  • दो जनवरी 2021 को भारत में बनी दो वैक्सीन के इस्तेमाल की इमरजेंसी मंजूरी मिली।
  • भारत में टीकाकरण अभियान के पहले चरण की शुरुआत 16 जनवरी 2021, दूसरे चरण की शुरुआत एक मार्च 2021 और तीसरे चरण की शुरुआत एक मई 2021 को हुई।
  • तीसरे चरण में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगनी शुरू हुई।
  • भारत ने 19 फरवरी 2021 को एक करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा छुआ।
  • 6 अगस्त 2021 को सिर्फ 202 दिन में भारत में 50 करोड़ वैक्सीन की डोज लग चुकी थी।
  • 27 अगस्त 2021 को एक दिन में एक करोड़ वैक्सीन की डोज लगाई गई थी।
  • 17 सितंबर 2021 को पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर भारत में एक दिन में सबसे अधिक ढाई करोड़ वैक्सीन की डोज लगाई गई थी।21 अक्टूबर 2021 को भारत ने 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार किया।
  • भारत को 50 से 100 करोड़ का आंकड़ा छूने में महज 76 दिन लगे।
  • तीन नवंबर 2021 से हर घर दस्तक अभियान की शुरुआत की गई।
  • पांच जनवरी 2022 को 15 से 18 साल के एक करोड़ से अधिक आयु वर्ग को वैक्सीन की पहली डोज दी गई।
  • सात जनवरी 2022 को वैक्सीन का आंकड़ा 150 करोड़ के पार कर गया।
  • 10 जनवरी 2022 को स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल या उससे ऊपर के लोगों के लिए प्रीकाशन डोज लगाने का अभियान शुरू किया गया।नौ फरवरी 2022 को 15 से 18 साल के आयु वर्ग के एक करोड़ से अधिक सभी युवाओं का टीकाकरण हुआ।
  • 16 मार्च 2022 से 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई।
  • 10 अप्रैल 2022 में निजी केंद्रों में प्रीकाशन डोज लगाने की अनुमति दी गई।
  • 17 जुलाई 2022 को भारत ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करते हुए 200 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार किया।

उत्तर प्रदेश ने वैक्सीनेशन में बनाया रिकार्ड

गौरतलब है कि एक मार्च 2021 से कोविन पोर्टल, आरोग्य सेतु और उमंग एप के जरिए वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया शुरू हुई। लद्दाख पहला ऐसा केंद्र शासित प्रदेश था, जहां के रहने वाले सभी लोगों का टीकाकरण हो गया था। राज्यों की बात करें तो टीकाकरण में उत्तर प्रदेश ने रिकार्ड बनाया है, जहां सबसे अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ है।

Related Articles

Back to top button