उपलब्धि: जीआई प्रमाणित जलगांव का केला दुबई में निर्यात, भारत ने इस साल 1.91 लाख टन केले का निर्यात किया

महाराष्ट्र के जलगांव जिले के तंदलवाड़ी गांव के किसानों ने 22 मीट्रिक टन जीआई प्रमाणित केले की उपज को दुबई में निर्यात किया गया है।

भौगोलिक संकेत (जीआई) प्रमाणित कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देते हुए, फाइबर और मिनरल से समृद्ध’जलगांव केला’ की एक खेप दुबई को निर्यात की गई है। महाराष्ट्र के जलगांव जिले के तंदलवाड़ी गांव का इलाका कृषि निर्यात नीति के तहत पहचाने गए केले के उत्पादन का प्रमुख कृषि क्षेत्र है। यहां के किसानों ने 22 मीट्रिक टन जीआई प्रमाणित केले की उपज की जिसको दुबई में निर्यात किया गया है।

उधर, भारत का केले का निर्यात मात्रा और मूल्य दोनों के लिहाज से बढ़ा है। 2018-19 में 1.34 लाख मीट्रिक टन केले का निर्यात हुआ था जिसकी कीमत 413 करोड़ रुपये थी। 2019-20 में निर्यात बढ़कर 1.95 लाख मीट्रिक टन हो गया जिसकी कीमत 660 करोड़ रुपए थी। 2020-21 (अप्रैल 2020-फरवरी 2021) में,भारत ने 619 करोड़ रुपये मूल्य के 1.91 लाख टन मूल्य के केले का निर्यात किया। भारत कुल उत्पादन में लगभग 25% की हिस्सेदारी के साथ दुनिया में केले का सबसे बड़ा उत्पादक है।

आंध्र प्रदेश, गुजरात, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, केरल, उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश देश के केले के उत्पादन में 70% से अधिक का योगदान करते हैं।

देश और विदेश की ताज़ातरीन खबरों को देखने के लिए हमारे चैनल को like और Subscribe कीजिए
Youtube- https://www.youtube.com/NEXTINDIATIME
Facebook: https://www.facebook.com/Nextindiatimes
Twitter- https://twitter.com/NEXTINDIATIMES
Instagram- https://instagram.com/nextindiatimes
हमारी वेबसाइट है- https://nextindiatimes.com
Google play store पर हमारा न्यूज एप्लीकेशन भी मौजूद है,

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 + 6 =

Back to top button