जय जवान, जय किसान के देश  में जवान और किसान दोनों की ही अनदेखी की जा रही है- कृष्णकांत पाण्डेय

केन्द्र की सरकार द्वारा जब-जब योजनायें देश के ऊपर थोपी गयी तब-तब असमंजस की स्थित इस देश में पैदा हुई, जिसके लिए योजना लाई गयी मूल रूप से उसी के खिलाफ रही, जीएसटी आजतक व्यापारियों के समझ में नही आया, नोटबंदी हुई पूरे देश की अर्थव्यवस्था छिन्न-भिन्न हो गयी। लॉकडाउन से मध्यम एवं छोटे व्यवसाय प्रायः समाप्त से हो गयें। हद तो तब हो गयी जब काले कृषि कानून ने लगभग एक वर्ष तक किसानों को सड़क पर बैठने को मजबूर कर दिया तथा सात सौ से अधिक किसानों को शहादत देनी पड़ी आज उसी तरह बिना सोचे समझे नौजवानों के विरूद्ध अग्निपथ योजना लाकर नौजवानों के साथ धोखा किया जा रहा है।

लखनऊ (आरएनएस )

।उक्त वक्तव्य देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता कृष्णकांत ने बताया कि अग्निपथ के विरोध में जहां देश के तमाम भागों में कांग्रेसजन सत्याग्रह कर रहें हैं, वहीं पर दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर भारी तदात में सत्याग्रह के दौरान उ0प्र0 के नेतागण- राज्यसभा सांसद श्री प्रमोद तिवारी, विधायक श्री विरेन्द्र चौधरी, उ0प्र0 के सह प्रभारी राष्ट्रीय सचिव श्री धीरज गुर्जर, राजेश तिवारी, बाजीराव खाड़े, सत्यनारायण पटेल, रोहित चौधरी, प्रदीप नरवाल, पूर्व मंत्री  नसीमुद्दीन सिद्दीकी, नकुल दुबे, पूर्व विधायक हरीश बाजपेई, श्याम किशोर शुक्ला, इन्दल रावत प्रदेश पदाधिकारी विश्वविजय सिंह, दिनेश सिंह, शिव पाण्डेय, डा0 प्रमोद पाण्डेय, अनिल यादव महिला कांग्रेस अध्यक्ष ममता चौधरी, सम्पूर्णानंद मिश्रा, कांग्रेस प्रवक्ता पंकज तिवारी, बृजेश सिंह, रमेश शुक्ला, कैप्टन वंशीधर मिश्रा, सभी जिला एवं शहर अध्यक्ष सहित तमाम कांग्रेसजन मौजूद रहे।श्री पाण्डेय ने आगे बताया कि जय जवान, जय किसान की पहचान वाले देश में किसान और जवान विशेष रूप से परेशान किये जा रहें हैं, क्योकि भाजपा सरकार केवल चंद उद्योगपतियों के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों के खिलाफ कानून बनाकर जहां सैकड़ांे लोगों को जान गवानी पड़ी वहीं अब जवानों के खिलाफ योजना लाकर सड़कों पर उतरने को सरकार ने विवश कर दिया है। विगत आठ वर्षो से प्रधानमंत्री द्वारा नौजवानों को नौकरी का झूठा वादा कर गुमराह किया जा रहा है। देश के आज जो हालात बने हैं, निश्चित रूप से इसके लिए भाजपा सरकार ही जिम्मेदार है। एक तरफ राजनैतिक प्रतिशोध की भावना से जनता की आवाज उठाने वाले नेताओं को सरकारी एजेंन्सियों द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है। वहीं पर भारत के सबसे बड़े 22842 करोड़ के बैंक फ्राड के आरोपी ए.बी.जी. शिपयार्ड के मुखिया ऋृषि अग्रवाल से एक बार भी पूछ-तांछ नहीं की गयी।श्री पाण्डेय ने आगे कहा कि नौजवानों के साथ अग्निपथ के माध्यम से क्या लाभ होना है, इसका सटीक वर्णन भाजपा के नेता कैलाश विजयवर्गीय द्वारा कहा जा रहा है, जिसकी कांग्रेस पार्टी निंदा करती है। क्या अब यह देश जय जवान, जय किसान का नहीं? हम दो हमारे दो का हो गया है? जिन नौजवानों ने खून पसीना बहाकर तीन वर्षो से लगातार तैयारी की है, आज उनके सामने संविदा की तरह सेना में भर्ती का ऑफर देकर देश की सुरक्षा एवं नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास किया जा रहा है।श्री पाण्डेय ने अंत में कहा कि अग्निपथ का समर्थन वहीं लोग कर रहें हैं जिनके बच्चे कॉन्वेन्ट में पढ़ते हैं सेना में भेजने का कोई इरादा नहीं है। किसान का बेटा सेना में जाता है इसलिए किसान और जवान परेशान किये जा रहें हैं।

Rashtriya News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

three × four =

Back to top button