‘शाहरुख खान और गौरी के लिए इस मुश्किल दौर से गुजरना आसान नहीं,’बोले अभिनेता अध्ययन सुमन

बेटे आर्यन खान के ड्रग्स केस को लेकर बॉलीवुड अभिनेता शाह रुख खान इन दिनों काफी सुर्खियों में हैं। जब से आर्यन खान का ड्रग्स केस में नाम आया है तब से बहुत से लोग किंग खान को सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल कर रहे हैं। हालांकि एक वर्ग ऐसा भी है जो शाह रुख खान का खुलकर सपोर्ट रहे हैं, लेकिन उन्हें ट्रोल करने वालों पर अब अभिनेता शेखर सुमन के बेटे अभिनेता अध्ययन सुमन ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

अध्ययन सुमन ने सोशल मीडिया के जरिए शाह रुख खान को ट्रोल करने वालों की जमकर क्लास लगाई है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि जब अध्ययन सुमन ने अपने बड़े भाई को हमेशा के लिए खो दिया था तो शाह रुख खान ने उन्हें काफी सपोर्ट किया था। अध्ययन सुमन के कुछ दिन पुराने वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘जब मैंने 11 साल की उम्र में अपने बड़े बेटे आयुष को खो दिया तो शाह रुख खान एकमात्र ऐसे अभिनेता थे जो फिल्म सिटी में शूटिंग के दौरान मेरे पास निजी तौर से आए, मुझे गले लगाया और अपनी संवेदना व्यक्त की।’

अध्ययन सुमन ने ट्वीट में आगे लिखा, ‘मुझे यह जानकर बहुत दुख हो रहा है कि एक पिता के तौर पर शाह रुख खान किस दौर से गुजर रहे होंगे। मेरा दिल शाह रुख खान और गौरी के लिए जाता है दुख प्रकट कर रहा है। एक माता-पिता के रूप में मैं पूरी तरह से समझ सकता हूं कि वह किस दौर से गुजर रहे होंगे। माता-पिता के लिए इस तरह की पीड़ा और मुश्किल दौर से गुजरना आसान नहीं है, चाहे कुछ भी हो।’

सोशल मीडिया पर अध्ययन सुमन के यह ट्वीट्स तेजी से वायरल हो रहे हैं। शाह रुख खान के फैंस सहित तमाम सोशल मीडिया यूजर्स उनके ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। आपको बता दें कि शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान को हाल ही में एनसीबी ने मुंबई से गोवा जा रहे एक क्रूज शिप पर छापेमारी के दौरान हिरासत में लिया था। आर्यन के साथ उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा भी शामिल थीं।

इसके बाद से इस मामले में सभी आरोपियों की जमानत को लेकर चर्चा जारी है। बॉम्बे हाईकोर्ट बुधवार को मुंबई क्रूज ड्रग मामले में अभिनेता शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत याचिका पर फिर सुनवाई करेगा। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने बॉम्बे हाई कोर्ट में दिए गए अपने हलफनामे में आर्यन खान का संबंध अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स सिंडीकेट से बताते हुए उनकी जमानत का विरोध किया है। एनसीबी ने तर्क दिया कि आर्यन को जमानत दिया जाना इस मामले की जांच को पटरी से उतार सकता है। दूसरी तरफ, जमानत पर बहस करते हुए वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि आर्यन अभी युवा हैं। उन्हें जेल के बजाय पुनर्वास केंद्र भेजा जाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − seven =

Back to top button