टेस्ट क्रिकेट में वापसी के बारे में बात करना जल्दबाज़ी होगी : मोहम्मद आमिर

मोहम्मद आमिर फिर से प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहे हैं। अपने टेस्ट करियर की समाप्ति की घोषणा के ढाई साल बाद, बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ सफेद रंग के कपड़ों और लाल गेंद के साथ फिर से मैदान पर वापस आ गए हैं। आमिर ने नसीम शाह के स्थान पर इंग्लैंड में ग्लॉस्टरशायर काउंटी क्रिकेट क्लब के साथ करार किया और गुरुवार को इस सत्र का अपना पहला विकेट लिया।
आमिर अभी केवल 30 साल के हैं। हालिया समय में आमिर के करियर के बारे में दुनिया भर में यह सवाल लगभग अपरिहार्य बन गया था कि क्या वह सेवानिवृत्ति से बाहर आने पर विचार करेंगे? साउथम्प्टन में उन्होंने कहा, टेस्ट वापसी के बारे में बात करना जल्दबाज़ी होगी। आगे क्या होगा यह आप कभी नहीं बता सकते। चीज़ें बदली जा सकती हैं लेकिन अभी के लिए मैं ग्लूस्टरशायर के लिए खेलते हुए अपने खेल का आनंद ले रहा हूं।

आमिर ने पिछले हफ़़्ते सरे के ख़िलाफ़ अपनी नई काउंटी टीम के लिए डेब्यू करते हुए 28 ओवर किए और इस हफ़्ते हैम्पशायर के ख़िलाफ़ पहले दिन के खेल में 21 ओवर किए। इस प्रतियोगिता में उन्होंने अब तक तीन विकेट लिए हैं और वे सभी विकेट पुरानी गेंद से आए हैं।
आमिर ने कहा, मैं तीन साल बाद खेल रहा हूं इसलिए एक तेज़ गेंदबाज़ के तौर पर यह आसान नहीं है। मैंने पिछले चार वर्षों में कोई प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेला है लेकिन मैं पहले गेम के बाद बेहतर हो रहा हूं और लड़कों की मदद करने और उनके लिए अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश कर रहा हूं। एक गेंदबाज़ के रूप में अच्छी गेंदबाज़ी करना और सामने से नेतृत्व करना मेरा कर्तव्य है।
आमिर जब अपने सबसे बढिय़ा फ़ार्म में थे तो वह कमाल की स्विंग गेंदबाज़ी करते थे, जो गेंद को दाएं हाथ के बल्लेबाज़ के लिए अंदर लाने के लिए प्रसिद्ध थे। जब उनकी गेंदबाज़ी के बारे में ज़्यादातर बल्लेबाज़ उनकी नवीनता को समझ गए तो वह उन्हें गति के साथ मात देने का प्रयास करते थे। इसके बाद उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के लिए बैन कर दिया गया। इसके कारण आमिर पांच साल का नुकसान उठाना पड़ा और जब वह लौटे तो वह पूरी तरह से अलग गेंदबाज़ थे। वह एक ऐसे गेंदबाज़ बन गए थे जिन्होंने गेंद की लाइन और लंबाई पर ध्यान केंद्रित करते हुए काफ़ी बढिय़ा गेंदबाज़ी की।
आमिर ने 28 साल की उम्र में कुछ विषम परिस्थितियों में पाकिस्तान क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने 36 टेस्ट में 119 विकेट, 61 एकदिवसीय मैचों में 81 विकेट और 50 टी20 मैचों में 59 विकेट लिए हैं। संन्यास के बाद से वह दुनिया भर की टी20 लीग में खेल रहे हैं।
आमिर ने कहा, पीएसएल में साइड स्ट्रेन की इंजरी से उबरने के बाद मैं प्रशिक्षण ले रहा था और बहुत अच्छा महसूस कर रहा था। इसके बाद मैंने सोचा कि क्यों न रेड-बॉल क्रिकेट में ख़ुद को मौक़ा दिया जाए। मुझे लगता है कि मैं अब बेहतर हो रहा हूं और सही रास्ते पर हूं। मैं रेड-बॉल क्रिकेट का आनंद ले रहा हूं। अभी के लिए मैं यहां केवल तीन मैचों के लिए हूं और बाद में मैं सीपीएल में जाने की योजना बना रहा हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

thirteen + 19 =

Back to top button