ट्रेनों की आवाजाही के दौरान विशेष सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश…

अंबिकापुर। रेलवे स्टेशन अंबिकापुर में रेलवे पुलिस बल के अलावा सोमवार से सरगुजा पुलिस के अधिकारी, कर्मचारियों को भी तैनात कर दिया गया है। ट्रेनों की आवाजाही के दौरान विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही जब अंबिकापुर रेलवे स्टेशन में ट्रेनों की आवाजाही नहीं होती उस दौरान भी पुलिस अधिकारी कर्मचारी स्टेशन परिसर और प्लेटफार्म इलाके में तैनात किए गए हैं ताकि उपद्रवी तत्वों को किसी भी प्रकार का कोई मौका ना मिल सके।अग्निपथ योजना के विरोध में उपद्रवी तत्वों के द्वारा ट्रेनों को निशाना बनाए जाने के बाद सभी स्टेशनों में सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए हैं।

अंबिकापुर रेलवे स्टेशन में भी रेलवे सुरक्षा बल को चौकस कर दिया गया था। रेलवे सुरक्षा बल के पास स्टाफ की कमी के कारण शुरुआती एक-दो दिनों तक 10 से 12 आरपीएफ के जवान ही स्टेशन परिसर की निगरानी में लगाए गए थे। रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों द्वारा सरगुजा पुलिस से सहयोग मांगे जाने के बाद सोमवार से सरगुजा पुलिस के अधिकारी,कर्मचारियों का दल भी समूचे स्टेशन परिसर में तैनात कर दिया गया है ।बता दें कि सरगुजा पुलिस ने कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित होने पर उससे निपटने के लिए 60 सदस्यीय विशेष दस्ते का गठन किया है। इसी दस्ते में शामिल अधिकारी, कर्मचारियों को पूरी सुरक्षा के साथ रेलवे स्टेशन परिसर में तैनात कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक भावना गुप्ता के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला भी सोमवार को रेलवे स्टेशन अंबिकापुर पहुंचे थे। यहां ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी, कर्मचारियों को उन्होंने सुरक्षा में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए ।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला ने बताया कि सरगुजा अंचल में किसी प्रकार के विरोध प्रदर्शन की कोई सूचना नहीं है फिर भी पुलिस एहतियातन सारी व्यवस्था सुनिश्चित कर रख रही है ताकि किसी भी प्रकार की स्थिति से आसानी से निपटा जा सके।वर्तमान में अंबिकापुर स्टेशन में सिर्फ चार ट्रेनों की ही आवाजाही हो रही है लेकिन रेलवे प्रबंधन स्टेशन और यहां खड़ी ट्रेन की सुरक्षा को लेकर कोई जोखिम नहीं उठा रहा है। इन दिनों अग्निवीरों की भर्ती को लेकर लगातार यात्री ट्रेनों, स्टेशन और रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। इसे देखते हुए रेलवे प्रबंधन ने भी स्टेशन के भीतर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। अंबिकापुर रेलवे स्टेशन की निगरानी के लिए रेलवे पुलिस बल के जवान के साथ जिला पुलिस बल के अधिकारी-कर्मचारियो की उपस्थिति के बाद से बिना किसी कारण रेलवे स्टेशन परिसर में जाने वालों से सख्ती से पूछताछ हो रही है।

शाम को अंबिकापुर- अनूपपुर मेमू, रात में अंबिकापुर- दुर्ग के अलावा दुर्ग-अंबिकापुर व शहडोल- अंबिकापुर मेमू का परिचालन इन दिनों हो रहा है। इन ट्रेनों के आने जाने के समय के अलावा स्टेशन परिसर और आसपास की लाइन की निगरानी कराई जा रही है। स्टेशन में यात्रियों के अलावा ज्यादा लोगों को भीतर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। लोगों को स्टेशन परिसर के आसपास भीड़ लगाने से मना किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

nine + 4 =

Back to top button