indian Oil ने IFSC पर इपने विदेशी मुद्रा बॉन्ड को किया सूचीबद्ध, पढ़े पूरी खबर

Indian Oil ने गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (गिफ्ट) में IFSC (इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर) एक्सचेंजों पर अपने विदेशी मुद्रा बॉन्ड को सूचीबद्ध किया है। गुरुवार को एनएसई आईएफएससी द्वारा जारी एक बयान में इंडियन ऑयल के फाइनेंस विभाग के निदेशक संदीप कुमार गुप्ता ने कहा कि, “हम एनएसई आईएफएससी और इंडिया आईएनएक्स एक्सचेंजों पर 1.4 बिलियन अमरीकी डालर और एसजीडी 400 मिलियन के लिस्टिंग समारोह के महत्वपूर्ण अवसर पर यहां आकर बेहद खुश हैं।”

उनके अनुसार, गिफ्ट सिटी में IFSC के आगमन ने भारतीय कंपनियों को देश के भीतर ऑफशोर फंड तक पहुंचने का अवसर प्रदान किया है। इन बॉन्डों को इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज (इंडिया आईएनएक्स) के ग्लोबल सिक्युरिटी बाजार प्लेटफॉर्म और एनएसई इंटरनेशनल एक्सचेंज (एनएसई आईएफएससी) के डेट सिक्युरिटी बाजार प्लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध किया गया था। इन प्लेटफार्मों को कई विदेशी मुद्रा बॉन्ड, ग्रीन बॉन्ड, मसाला बॉन्ड, नोट्स, आदि में डेट सिक्योरिटीज की लिस्टिंग और ट्रेडिंग के लिए लॉन्च किया गया था।

इसके साथ ही यह प्लेटफॉर्म दुनिया भर के निवेशकों के लिए न्यूनतम टर्नअराउंड समय और निवेश के अवसरों के साथ जारीकर्ताओं को एक कुशल अंतरराष्ट्रीय लिस्टिंग प्रक्रिया प्रदान करते हैं। एनएसई आईएफएससी डेट सिक्युरिटी बाजार के शुरू के बाद से इस प्लेटफॉर्म ने 22 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक मूल्य के कुल मध्यम अवधि के नोट (एमटीएन) को सूचीबद्ध किया है। इसके अलावा 14.12 बिलियन अमरीकी डालर (800 मिलियन अमरीकी डालर ग्रीन बॉन्ड सहित) के कुल इश्यू की लिस्टिंग भी हुई है।

IFSCA के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर मनोज कुमार ने कहा है कि, “हम सस्टेनबल फाइनेंस ईकोसिस्टम और इनोवेटिव प्रोडक्ट्स विकसित करके IFSC के ग्लोबल कॉम्पटीशन को बढ़ा रहे हैं। हम GIFT IFSC को ग्लोबल फाइनेंशियल हब बनाने और विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए वाइब्रेंट फाइनेंशियल सर्विस ईकोसिस्टम देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

एनएसई समूह के अध्यक्ष रवि वाराणसी ने कहा कि भारत में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्रों की स्थापना विभिन्न मुद्राओं में धन जुटाने के लिए उत्पादों की विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है और यह पहली बार है जब कोई जारीकर्ता एनएसई आईएफएससी में सिंगापुर डॉलर मूल्यवर्ग के मुद्रा बांड की सूची बना रहा है। आईएफएससी में बॉन्डों की लिस्टिंग और ट्रेडिंग लागत दक्षता प्रदान करेगी और साथ ही जारीकर्ता को अंतरराष्ट्रीय निवेशकों तक पहुंचने में सक्षम बनाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + seven =

Back to top button