रियल एस्टेट कारोबारी के घर समेत प्रतिष्ठानों पर आयकर विभाग का छापा

शहर में आयकर विभाग ने कल्याणपुर के नवशील धाम में रहने वाले रियल एस्टेट कारोबारी के घर पर इनकम टैक्स टीम ने छापा मारा है। इसके बाद रियल एस्टेट से जुड़े अन्य कारोबारियों में खलबली मच गई है। कल्याणपुर के नवशील धाम में में रियल एस्टेट कारोबारी राकेश यादव रहते हैं। बुधवार की सुबह उनके घर पर इनकम टैक्स विभाग की टीम ने छापा मारा है। घर पर रियल एस्टेट कंपनी से जुड़े दस्तावेजों की जांच कर रही है।

राकेश यादव का रीयल एस्टेट,प्लास्टिक फैक्ट्री,जींस निर्माता,छपाई कारोबार सहित कई प्रतिष्ठान हैं। 
आयकर विभाग को घनाराम इन्फ्रा कंपनी द्वारा फर्जी दस्तावेजों के सहारे जमीनों का बैनामा कराने के नाम पर  धांधली की शिकायत मिली थी। इसी मामले में आयकर विभाग ने कंपनी के कानपुर,लखनऊ,दिल्ली, झांसी समेत कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी शुरू की है। घनाराम इंफ्रा कंपनी दिल्ली में पंजीकृत है और इसमें बिशन सिंह, श्याम सुंदर सिंह, घनाराम और गुलराज कौर निदेशक मंडल में हैं। राकेश यादव की कंपनी का भी संबंध घनाराम इंफ्राटेक कंपनी से होने की जानकारी सामने आई है। इसके चलते आयकर विभाग की एक टीम ने सुबह से राकेश के घर पर छापा मारकर जांच शुरू कर दी है। झांसी स्थित घनाराम इंफ्रा में राकेश यादव साझेदार के रूप में हैं।
आयकर विभाग की टीम बुधवार सुबह इन सभी स्थानों पर एक साथ पहुंची और कार्रवाई शुरू की है। नवशील धाम में करीब 5 वर्ष पहले राकेश रहने आए थे। इससे पहले वह एक बड़े कारोबारी के फ्लैट में रहते थे,जिनका देश में केबल नेटवर्क का कारोबार है। राकेश यादव की दिबियापुर में प्लास्टिक फैक्ट्री है, जिसमें सीमेंट और खाद की बोरियां बनती हैं। उन्नाव में जींस का कारखाना है। कारगिल पेट्रोल पंप बर्रा के पास छपाई का कारखाना भी है। आयकर विभाग ने इन सभी स्थानों को जांच के दायरे में लिया। नवशील धाम में रहने वाले लोगों के मुताबिक बिठूर क्षेत्र में भी उनकी संपत्ति हैं। राकेश के रीयल एस्टेट कारोबार में राजनीति से जुड़े कई लोगों का धन लगा है। राकेश यादव ने कानपुर नगर निगम में कई वर्ष तक ठेकेदारी की है। वह मूलरूप से कानपुर देहात के सिकंदरा का रहने वाला है।

Rashtriya News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

14 − ten =

Back to top button