इनकम टैक्स विभाग ने गुजरात और तमिलनाडु में तलाशी अभियान चलाया, ताबड़तोड़ छापेमारी

इन तलाशियों का परिणाम अभी तक 300 करोड़ रुपए से अधिक की बेहिसाबी आय के रूप में सामने आया है।

आयकर विभाग ने चेन्‍नई स्थित दो निजी सिंडीकेट फाइनेंसिंग समूहों पर तलाशी और जब्‍ती अभियान चलाया। यह तलाशी अभियान चेन्‍नई स्थित 35 परिसरों में चलाया गया।

इन फाइनेंसरों तथा उनके सहयोगियों के परिसरों में प्राप्‍त साक्ष्‍य से पता चला कि इन समूहों ने तमिलनाडु में विभिन्‍न बड़े कॉरपोरेट घरानों तथा कंपनियों को ऋण दिया है, जिसका बड़ा हिस्‍सा नकदी में है। तलाशी के दौरान पता चला कि वे ब्‍याज की ऊंची दर वसूल रहे हैं। जिसके एक हिस्‍से पर कर नहीं अदा किया जाता। समूहों द्वारा अपनाई गई कार्यप्रणाली से पता चला कि उधारकर्ताओं द्वारा अधिकांश ब्‍याज भुगतान जाली बैंक खातों में जमा किए जाते हैं और कर प्रयोजनों के लिए उनका खुलासा नहीं किया जाता। इसके अतिरिक्‍त, बेहिसाबी धन छद्म रूप में होते हैं और समूहों के बही-खाते में उन्‍हें असुरक्षित ऋण, विभिन्‍न ऋणदाताओं आदि के रूप में प्रस्‍तुत किया जाता है।

तलाशी के दौरान पाए गए अन्‍य साक्ष्‍यों से पता चला कि इन व्‍यक्तियों द्वारा अनगिनत बेहिसाबी संपत्ति निवेश किया गया है और अन्‍य आय को छुपाया गया है।

इन तलाशियों का परिणाम अभी तक 300 करोड़ रुपए से अधिक की बेहिसाबी आय के रूप में सामने आया है।

अभी तक नौ करोड़ रुपए की बेहिसाबी नकदी जब्‍त की गई है। आगे की जांच प्रगति पर है।

इसके साथ ही आयकर विभाग ने कर चोरी के बारे में खुफिया जानकारी के आधार पर गुजरात के एक अग्रणी हीरा विनिर्माता और निर्यातक के परिसरों पर तलाशी और जब्ती अभियान चलाया। यह समूह हीरे के व्‍यवसाय के अलावा टाइल्स बनाने के भी कारोबार से भी जुड़ा था। इस अभियान में गुजरात के सूरत, नवसारी, मोरबी, वांकानेर और महाराष्ट्र के मुंबई स्थित 23 परिसरों को शामिल किया गया।

तलाशी की मुख्य विशेषताओं में बड़ी मात्रा में कागजी और डिजिटल रूप में बेहिसाबी डेटा को जब्त किया जाना शामिल है, जिसे सूरत, नवासारी, मुंबई में अपने भरोसेमंद कर्मचारियों के संरक्षण में गुप्त स्थानों पर रखा गया था। डेटा में पिछले पांच वर्षों के लिए बेहिसाब खरीद, बेहिसाब बिक्री, खरीद के लिए समायोजन प्रविष्टियां लेना, जिनके विरुद्ध नकदी प्राप्त होती है, अंगडिया फर्मों के माध्यम से इस तरह की नकदी और स्टॉक की आवाजाही, अंगडिया के पास बेहिसाब नकदी रखना, संपत्ति और स्‍टॉक की खरीद के लिए ऐसी बेहिसाब आय का निवेश और स्टॉक, आदि के प्रमाण शामिल हैं। तलाशी अभियान अभी भी जारी है और आगे की जांच प्रगति पर है।

देश और विदेश की ताज़ातरीन खबरों को देखने के लिए हमारे चैनल को like और Subscribe कीजिए
Youtube- https://www.youtube.com/NEXTINDIATIME
Facebook: https://www.facebook.com/Nextindiatimes
Twitter- https://twitter.com/NEXTINDIATIMES
Instagram- https://instagram.com/nextindiatimes
हमारी वेबसाइट है- https://nextindiatimes.com
Google play store पर हमारा न्यूज एप्लीकेशन भी मौजूद है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 − 4 =

Back to top button