मेरिटोरियस स्कूलों में 14 लड़कों व 6 सीटें लड़कियों की खाली..

मेरिटोरियस स्कूलों में अब इंटर स्कूल्स माइग्रेशन प्रोसेस शुरू होने जा रहा है। हैरानी की बात यह रही कि दूसरी काउंसलिंग के दौरान विद्यार्थी पहुंचे भी लेकिन काउंसलिंग होने के बाद भी उन्होंने स्कूलों में दाखिला नहीं लिया।

मेरिटोरियस स्कूलों में अब इंटर स्कूल्स माइग्रेशन प्रोसेस शुरू होने जा रहा है। मेरिटोरियस सोसायटी की ओर से राज्य भर में चलाए जा रहे 10 मेरिटोरियस स्कूलों में यह कवायद अब सीटें भरे जाने को लेकर चलाया जा रहा है। इससे पहले सभी मेरिटोरियस स्कूलों में अगस्त माह में क्लासिस शुरू हो चुकी हैं लेकिन खाली पड़ी सीटों को भरने को लेकर अक्तूबर माह की शुरूआत में दूसरी काउंसलिंग प्रक्रिया चलाई गई ताकि ग्यारहवीं कक्षा में खाली पड़ी सीटों को भरा जा सके।

हैरानी की बात यह रही कि दूसरी काउंसलिंग के दौरान विद्यार्थी पहुंचे भी लेकिन काउंसलिंग होने के बाद भी उन्होंने स्कूलों में दाखिला नहीं लिया। ऐसा आलम केवल एक जिले के मेरिटोरियस स्कूल में नहीं बल्कि सभी मेरिटोरियस स्कूलों का है जिसके बाद अब 10 मेरोटिरयस स्कूलों में इंटर स्कूल्स माइग्रेशन प्रोसेस शुरू किया जा रहा है ताकि सीटें भरी जा सके।

14 लड़कों व 6 सीटें लड़कियों की खाली

लुधियाना मेरिटोरियस स्कूल की बात करें तो यहां कामर्स, मेडिकल और नान-मेडिकल स्ट्रीम में कुल पांच सौ सीटें हैं। दो काउंसलिंग हो चुकी है और इसके बाद अभी भी कुल बीस सीटें खाली चल रही है जिसमें लड़कों की 14 और लड़कियों की 6 सीटें खाली हैं। स्ट्रीम अनुसार बात करें तो नान-मेडिकल स्ट्रीम में लड़कियों की 180 में 177 सीटें जबकि लड़कों की 120 में से 114 सीटें भरी हैं। मेडिकल स्ट्रीम में लड़कियों की कुल 60 सीटों में 59 तथा लड़कों की 40 सीटों में 34 सीटें भरी हैं। कामर्स स्ट्रीम की बात करें तो लड़कियों की 60 में से 58 और लड़कों की 40 में से 38 सीटें भरी हैं।

31 विद्यार्थियों ने माइग्रेशन के लिए दिखाया उत्साह

सोसायटी के इंटर स्कूल्स माइग्रेशन प्रोसेस शुरू करने के फैसले के बाद हर जिले के मेरिटोरियस स्कूलों से विद्यार्थियों का रिस्पांस पूछ सोसायटी को भेजा गया है क्योंकि काउंसिलंग के दौरान कई विद्यार्थी एेसे थे जिन्होंने दाखिले के लिए पसंदीदा स्टेशन कुछ आप्ट किया था लेकिन वहां सीटें भर जाने के चलते उन्हें दूसरे स्टेशन को आप्ट करना पड़ा था। अब उन विद्यार्थियों के पास बेहतरीन मौका है कि वह इंटर स्कूल्स माइग्रेशन का फायदा उठा सकें। लुधियाना मेरिटोरियस स्कूल की प्रिंसिपल विश्वदीप कौर की माने तो स्कूल में माइग्रेशन के लिए विद्यार्थियों का रिस्पांस पूछा जा चुका है और सोसायटी को भेज भी दिया गया है। स्कूल में 31 विद्यार्थी ऐसे हैं जिन्होंने माइग्रेशन के प्रति उत्साह दिखाया है।

Related Articles

Back to top button