तमिलनाडु के तंजावुर में रथ यात्रा के दौरान करंट लगने से 11 की मौत और 15 लोग हुए घायल….

तमिलनाडु के तंजावुर में दिन की शुरुआत दर्दनाक हादसे के साथ हुई। बुधवार सुबह एक हादसे ने यहां 11 लोगों की जान ले ली। कालीमेडु में अप्पर मंदिर की रथ यात्रा के दौरान कई लोग हाई वोल्टेज तार की चपेट में आ गए। करंट लगने से अभी तक 11 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है।

दरअसल, बुधवार सुबह रथ यात्रा निकाली जा रही थी। रथ यात्रा के दौरान बड़ी संख्या में लोग जुटे थे। इसी दौरान रथ पर खड़े कई लोग करंट की चपेट में आ गए।

jagran

करंट की चपेट में आने से 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 15 लोग घायल हो गए। मृतकों में बच्चे भी शामिल हैं। घायलों को इलाज के लिए तंजावुर मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है।

jagran

हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंच गया और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। करंट की चपेट में आने से रथ जलकर राख हो गया है।

jagran

आईजीपी, सेंट्रल जोन तिरुचिरापल्ली वी बालकृष्णन और तंजावुर एसपी रावली प्रिया ने तंजावुर मेडिकल कालेज और अस्पताल का दौरा किया। घायलों का इलाज इसी अस्पताल में चल रहा है।

jagran

तमिलनाडु विधानसभा में तंजावुर की घटना को लेकर 2 मिनट का मौन रखा गया। विधानसभा में सीएम एमके स्टालिन ने घोषणा की, ‘मैं घायलों और मृतकों के परिवारों से मिलने के लिए तंजावुर जाऊंगा।’

jagran

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, पीएम नरेन्द्र मोदी और राज्य के सीएम एमके स्टालिन ने हादसे पर दुख जताया है। सीएम ने मृतकों के परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है। पीएम ने भी सहायता राशि का एलान किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − 13 =

Back to top button