आवास विकास परिषद अयोध्या और मथुरा में लांच करने जा रहा ये नई टाउनशिप, अगस्‍त में पंजीकरण शुरू

धार्मिक नगरी अयोध्या और मथुरा में आवास विकास परिषद अपनी नई टाउनशिप लाने जा रहा है। इसकी तैयारियां तेज हो गई हैं। करीब 1194.36 एकड़ के दायरे में अयोध्या में नई टाउनशपि बसाई जाएगी। इसके लिए परिषद में ग्राम बरेहटा मांझा, शाहनवाजपुर मांझा के किसानों से जमीनें खरीदी गईं हैं। यहां हर वर्ग के लिए भूखंड रखे जाएंगे।

शहर से चंद किलोमीटर की दूरी पर नया टाउनशिप विकसित किया जा रहा है। योजना में जनता क्वार्टर, 72 वर्ग मीटर, 112 वर्ग मीटर, 200 और 288 वर्ग मीटर के भूखंड बेचे जांएगे। कुछ इसी तरह मथुरा में भी परिषद अपनी आवासीय योजना लांच करने की तैयारी कर रहा है।

आवास विकास परिषद के सचिव नीरज शुक्ला ने बताया कि अयोध्या के लिहुरा मांझा की जमीन भी किसानों से अधिगृहीत की गई है। यहां भूखंड खरीदने वालों के लिए सामुदायिक केंद्र बनाने के साथ ही मूलभूत सुविधाएं भी आवास विकास परिषद मुहैया कराएगा। जिसका उद्देश्य होगा कि आगामी दो से तीन माह में यहां पंजीकरण प्रकिया शुरू कर दी जाए।

अयोध्या में राम मंदिर जबसे बनना शुरू हुआ है तबसे जमीनों के दाम महंगे हो गए हैं। परिषद के अधिकारियों ने बताया कि यहां जमीनों के दाम प्रति वर्ग मीटर लखनऊ की वृंदावन कालोनी की तर्ज पर हो सकते हैं। क्योंकि यहां न सिर्फ यूपी के लोग भूखंड खरीदेंगे, बल्कि अन्य प्रदेश व विदेशों में रह रहे प्रवासी भी भूखंड लेना चाहते हैं। राम की नगरी में पंजीकरण खुलते ही भूखंड की डिमांड कई गुना आने की उम्मीद परिषद को है।

वहीं मथुरा में 105.3561 हेक्टेअर जमीन पर नई टाउनशिप बसाने की योजना है। परिषद के मुताबिक, ग्राम अल्हैपुर एवं छटीकरा की भूमि किसानों से अधिगृहीत की गई है। करीब 190 करोड़ रुपये के आसपास मुआवजा भी किसानों को दिया जा चुका है। यहां भी परिषद इसी साल अपनी नई टाउनशिप लांच करने जा रहा है। अफसरों के मुताबिक, हर वर्ग को ध्यान में रखकर यहां भी टाउनशिप का खाका तैयार किया गया है।

अयोध्या और मथुरा दोनों ही धार्मिक नगरी है। दोनों ही जगह नई टाउनशिप आवास विकास परिषद लांच करने जा रहा है। तैयारी पूरी हो चुकी है, कुछ औपचारिकताएं बाकी है, जिन्हें पूरा किया जा रहा है। आगामी चार से छह महीने में पंजीकरण खोलने की कोशिश है। – नीरज शुक्ला, सचिव, आवास विकास परिषदघा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × four =

Back to top button