केरल में आज फिर हो सकती है भारी बारिश, 11 जिले में आरेंज अलर्ट जारी

केरल में आज भारी बारिश के पूर्वानुमान के बीच मंगलवार को केरल के इडुक्की जलाशय के अंतर्गत आने वाले चेरुथोनी बांध के तीन गेट खोल दिए गए। इससे पहले जलस्तर के खतरे के निशान से ऊपर पहुंचने पर एर्नाकुलम स्थित इदामलयार व पतनमतिट्टा स्थित पंपा बांध के गेट खोले गए।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने कोल्लम, अलप्पुझा व कासरगोड समेत राज्य के 11 जिलों के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है। इसका मतलब हुआ कि इन जिलों में बुधवार को भारी से बहुत भारी, यानी 64.5 से 204.4 मिलीमीटर तक बारिश हो सकती है। राज्य में एक से 19 अक्टूबर के बीच 135 फीसद अधिक बारिश हो चुकी है। केरल राज्य विद्युत बोर्ड ने अपने फेसबुक पेज पर बताया कि चेरुथोनी बांध के गेट पिछली बार तीन साल पहले खोले गए थे। राज्य के ऊर्जा मंत्री के कृष्णनकुट्टी व जल संसाधन मंत्री रोशी अगस्टीन की मौजूदगी में गेटों को 35 सेंटीमीटर उठाया गया। अगस्टीन ने संवाददाताओं से कहा, ‘हालात इस समय शांतिपूर्ण हैं। बांधों से प्रवाहित जल सामान्य रूप से बह रहा है। इस समय बांध में पानी का आना कम हो गया है।’ कृष्णनकुट्टी ने कहा कि शटरों को वैज्ञानिक आंकड़ों के आधार पर खोला गया है। उन्होंने कहा, ‘इसका फैसला नेताओं ने नहीं, विशेषज्ञों ने किया है। 

भाजपा व कांग्रेस ने वामपंथी सरकार पर किया प्रहार

 विपक्षी भाजपा व कांग्रेस ने केरल में सत्तारूढ़ वामपंथी सरकार पर बाढ़ प्रबंधन में विफलता का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर हमला बोला है। विपक्ष के नेता वीडी सतीशन ने कहा कि मुख्यमंत्री ने मई 2019 में नीदरलैंड्स के दौरे के क्रम में ‘रूम फार रिवर’ परियोजना का एलान किया था, जिस पर अबतक अमल नहीं किया जा सका है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. सुदर्शन ने आरोप लगाया कि सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना ‘रीब्यूल्ड केरल’ पूरी तरह ठप है। उधर, मुख्यमंत्री विजयन ने लोगों को ऊंचे क्षेत्रों में आश्रय लेने की सलाह दी है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + sixteen =

Back to top button