केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, यहाँ जानिए क्या

आप भी महंगाई भत्ता बढ़ने (DA Hike) का इंतजार कर रहे हैं तो अगले महीने से आपकी सैलरी 15000 रुपये बढ़ सकती है. जानें किस दिन सरकार करेगी ऐलान-

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है. अगर आप भी महंगाई भत्ता बढ़ने (DA Hike) का इंतजार कर रहे हैं तो अगले महीने से आपकी सैलरी 15000 रुपये बढ़ सकती है. केंद्र सरकार ने इस बार 4 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया है. सरकार के इस फैसले के बाद कर्मचारियों की सैली में बंपर इजाफा होगा.

DA Arrear का पैसा भी खाते में होगा ट्रांसफर
आपको बता दें इसका औपचारिक ऐलान जल्द ही यानी सितंबर महीने में हो सकता है. AICPI इंडेक्स के मुताबिक, डीए बढ़ने के बाद में कर्मचारियों की सैलरी बढ़ने के साथ ही उनको जुलाई और अगस्त महीने का पैसा एरियर के रूप में उनके खाते में ट्रांसफर कर दिया जाएगा.

अगले महीने से मिलेगा 38 फीसदी महंगाई भत्ता
सातवें वेतन आयोग के वर्तमान स्केल के हिसाब से कर्मचारियों और पेंशनर्स को 34 फीसदी की दर से महंगाई भत्ते और डीआर का भुगतान किया जा रहा है, लेकिन अगले महीने औपचारिक ऐलान के बाद में कर्मचारियों के डीए में 4 फीसदी का इजाफा हो जाएगा यानी अगले महीने से आपको 38 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता मिलेगा.

38 फीसदी हो जाएगा केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA)
7वें वेतन आयोग में मौजूदा स्ट्रक्चर में सभी केंद्र सरकार के कर्मचारी और पेंशनर्स को 34 फीसदी की दर से DA और DR का भुगतान हो रहा है. लेकिन, सितंबर के बाद 38% की दर से भुगतान होगा. सितंबर की सैलरी के साथ तीन महीने के महंगाई भत्ते का भुगतान किया जाएगा. इसमें जुलाई और अगस्त के DA Arrear भी आएगा. केंद्रीय कर्मचारी अपनी बेसिक पे और ग्रेड के हिसाब से सैलरी में होने वाले इजाफे का अंदाजा लगा सकते हैं.

बेसिक सैलरी 31550 रुपये होने पर कितनी बढ़ेगी सैलरी?
सातवें वेतन आयोग के मुताबिक, अगर आपकी बेसिक सैलरी 31550 रुपये है और डीए में 38 फीसदी का इजाफा होता है तो यहां जानिए कि आपकी सैलरी कितनी बढ़ जाएगी.

आइए कैलकुलेशन से समझे कि आपकी सैलरी में कितना इजाफा होगा (DA Calculation)-
बेसिक सैलरी – 31550 रुपये
महंगाई भत्ता 38 फीसदी – 11989 रुपये
मौजूदा डीए – 34 फीसदी – 10727 रुपये
कितना बढ़ेगा डीए – 4 फीसदी
मंथली सैलरी में इजाफा – 1262 रुपये
सालाना सैलरी में होने वाला इजाफा – 15144 रुपये

Related Articles

Back to top button