ऑनलाइन सट्‌टे की लत से कॉन्स्टबेल का करियर हुआ बर्बाद

ऑनलाइन सट्‌टे की लत ने कॉन्स्टबेल का करियर बर्बाद कर दिया. साइबर फ्रॉड के मामले में दिल्ली पुलिस से बर्खास्त कांस्टेबल को गिरफ्तार किया गया है. आरोपी पर चीटिंग के पांच मामले दर्ज हैं. इसकी पहचान रोहित दलाल (28) के तौर पर हुई, जो मूल रूप से हरियाणा के झज्जर का रहने वाला है.

दिल्ली के नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी सागर सिंह कलसी ने बताया कि मजनूं का टीला निवासी राहुल कुमार ने साइबर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. उसने बताया था कि एक शख्स ट्रैफिक पुलिस की वर्दी पहन कर उसके साइबर कैफे में आया और झांसे में लेकर 16 हजार रुपए फोनपे पर ट्रांसफर करवा लिए. पुलिस ने जांच के दौरान टेक्निकल सर्विलांस और बैंक डिटेल से जुड़ी जानकारी जुटाने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी की पहचान रोहित दलाल के तौर पर हुई. पता चला वह पिछले साल ही दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पद से बर्खास्त हुआ था. पुलिस ने इसे 29 जुलाई को हरियाणा के बहादुरगढ़ से गिरफ्तार कर लिया.

आरोपी ने बताया कि उसने साल 2016 में दिल्ली पुलिस ज्वाइन की थी. बतौर कांस्टेबल उसकी तैनाती बटालियन में थी. वह ऑनलाइन पर सट्‌टा लगाने लगा. पूरी सैलरी और जमा पूंजी ने उसने ऑनलाइन सट्‌टे में लगा दी. नुकसान हुआ तो उसने रिश्तेदारों और सहयोगियों से कर्ज उठा लिया. इसे वह लौटा नहीं सका, जिस कारण उसने साइबर फ्रॉड करना शुरू कर दिया. पिछले साल उसे ट्रैफिक पुलिस से बर्खास्त कर दिया गया था. इसके बाद भी वह पुलिस की वर्दी पहनकर लोगों से ठगी करता था. आरोपी बर्खास्त कांस्टेबल पर अशोक विहार, आदर्श नगर, बाबा हरिदास नगर और जहांगीरपुरी में चीटिंग के पहले से केस दर्ज हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five + 7 =

Back to top button