ईको वाहन से साइलेंसर चोरी करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

ईको वाहन से साइलेंसर चोरी करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वहीं अभी कई आरोपित फरार है जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम रवाना की गई है।

पुलिस ने बताया कि आरोपितों ने सरगुजा रेंज में 76 एवं बिलासपुर जिले में 17 ईको कार के साइलेंसर जिसकी कुल कीमत 46.50 लाख बताई जा रही है चोरी की है। 96 चोरियों का पर्दाफाश पुलिस महानिरीक्षक, सरगुजा रेंज अजय कुमार यादव ने किया। इस गिरोह से 4 गाड़ियों का साइलेंसर, 2 पाना, 5 आरी, घटना में प्रयुक्त एक बाइक जब्त करने की बात पुलिस ने प्रेस रिलिज कर बताई। इस दौरान आईजी ने गिरोह को पकड़ने वाली पुलिस टीम को 25,000 रुपए नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

गौरतलब हो कि कोरिया जिले में कुछ माह से मारुति इको कार के साइलेंसर चोरी की घटना लगातार बढ़ रही थी, जिसे पकड़ने के लिए पुलिस महानिरीक्षक, सरगुजा रेंज अजय कुमार यादव ने निर्देश दिया था। कोरिया पुलिस अधीक्षक त्रिलोक बंसल ने बताया कि आरोपित साइलेंसर को चोरी करने के बाद अबिंकापुर ले जाकर काट लेते थे उसके बाद उसे रायगढ़ भेजते थे। वहीं उन्होंने कहा कि संभवतः रायगढ़ से इसे उत्तर प्रदेश के मेरठ भेजा जाता था। इसके आगे उन्होंने पूरे आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही आगे पूरी जानकारी सामने आने की बात कही है।

सिद्ध बाबा घाट के नीचे मिले आरोपितः

थाना मनेन्द्रगढ़ में एक ही रात में चार इको कार के साइलेंसर चोरी करने की सूचना मिली थी। एसपी त्रिलोक बंसल अनुसार तुरंत ही मनेन्द्रगढ़ से सभी दिशाओं में टीम रवाना की गई। रात्रि एक टीम को सिद्ध बाबा घाट के नीचे तीन व्यक्ति बैठे मिले, जिन्हें थाना तलब कर पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम नीरल किन्डो, अंजीत खाखा, आशीष किन्डो बताया उनके पास बैग की तालाशी लेने पर उनके बैग में 4 नग मारुती इको कार की साइलेंसर का टुकड़ा मिला। पूछताछ करने पर उन्होने सब्जी मंडी, मौहारपारा, चनवारीडांड से कार से कुल 4 नग साइलेंसर काट कर चोरी करना कबूला। इसमें से 2 साइलेंसर को सिद्ध बाबा घाटी में छुपाना बताया, जिसे आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने बरामद किया।

एैसे देते थे घटना को अंजामः

पुलिस की माने तो पूछताछ दौरान आरोपितों ने बताया कि उन्होंने अंबिकापुर , सूरजपुर, बलरामपुर में भी अपने साथियों के साथ 76 गाडियों के साइलेंसर चोरी करने की बात कबूल की, इसे एक निर्धारित तरीके से रायगढ़ भेजने की बात बताई। आरोपितों ने बताया रात करीब 8 से 11 बजे तक रैकी का काम करते थे, उसके बाद देर रात्रि साइलेंसर चोरी कर सुनसान स्थानों पर साइलेंसर के टुकडे कर बैग में भर कर अम्बिकापुर पहुंचते थे और वहां प्रकाश के कमरे में पार्सल बनाकर बस के माध्यम से रायगढ़ भेजते थे जहां इनके साथी पार्सल रिसिव करते थे, जहां से पार्सल आगे जाता था।

विभिन्न जिलों में हुई चोरिया

पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी में बताया गया कि अभी तक पूरे संभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरिया जिले मे 10, बलरामपुर जिले में 19, सरगुजा जिले में 8, सूरजपुर जिले में 12 एवं बिलासपुर जिले में 17 सहित कुल 66 प्रकरण में अपराध पंजीबद्ध होने की जानकारी प्राप्त हुई है। अन्य चोरी के मामलो में रिपोर्ट की जानकारी नहीं है। गैंग बड़े स्तर का है, ग्रामीण इलाको मे भी चोरी करने की बात सामने आई है, चूंकि गैंग के चोरी का दायरा बड़ा था, इसलिए अन्य जगहों में रिपोर्ट नहीं हुई होंगी, पकड़े गए आरोपितों के आलावा अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए टीमें रवाना की गई है।

पकड़े गए आरोपितः

निरल किण्डो पिता रगबर किण्डो दवना दमसरा थाना भैयाथान, आशीष किण्डो पिता रगबर किण्डो दवना दमसरा थाना भैयाथान जिला सूरजपुर, अंजीत खाखा पिता ठेम्पू दर्रीडीह थाना लुण्ड्रा जिला सरगुजा, थामस किण्डो पिता शिवनाथ किण्डो बरपारा थाना भटगांव जिला सूरजपुर और प्रकाश मसीह पिता शंकरलाल मसीह बरकोल थाना धवलपुर जिला सरगुजा शामिल है।

Related Articles

Back to top button