देश के पहले वोटर 105 साल की उम्र में मतदान केंद्र जाकर डालेंगे वोट

निर्वाचन आयोग द्वारा हिमाचल प्रदेश में चुनाव का ऐलान करने के साथ ही चुनावी सरगर्मियां भी तेज हो गईं हैं। वोटरों पर भाजपा, कांग्रेस, आप सहित सभी राजनैतिक पार्टियों की नजर रहेंगी। लेकिन, इसी के बीच देश के पहले मतदाता पर भी सभी की नजरें टिकीं हुईं होंगी। देश के पहले वोटर श्याम सरण नेगी भी इस चुनाव में अपने मत का इस्तेमाल करने जा रहे हैं।  

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, किन्नौर जिले के कल्पा निवासी 105 वर्षीय नेगी घर में नहीं बल्कि, मतदान केंद्र पहुंचकर 12 नवंबर को अपना वोट डालेंगे।  मालूम हो कि आयोग 80 वर्ष से ज्यादा उम्र के वोटरों के लिए घर से ही मतदान करने की व्यवस्था करता है, लेकिन स्वयं ही मतदान केंद्र जाकर वोट करेंगे।  सूत्रों की बात मानें तो नेगी के लिए प्रशासन ने खासतौर से व्यवस्था की है।

पिछली बार की तरह इस बार भी मतदान केंद्र में नेगी का स्वागत रेड कारपेट पर होगा। उम्र के इस पढ़ाव में शारीरिक कमजोरी होने  के बावजूद भी नेगी का मतदान करने का जज्बा बरकरार है। नेगी का जन्म 1 जुलाई 1917 को हुआ था। हिमाचल चुनाव को लेकर प्रशासन द्वारा तैयारियां भी शुरू की जा चुकी हैं।

1952 में हुए थे पहले चुनाव
1947 में भारत को मिली आजादी के बाद देश में पहली बार 1952 में आम चुनाव के लिए मतदान हुए थे। लेकिन, मौसम की वजह से हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में पांच माह पहले ही 1951 में चुनाव हुए थे। चुनाव के समय नेगी किन्नौर के मूरंग स्कूल में अध्यापक थे और चुनाव में उनकी ड्यूटी भी लगी थी। उस दौरान उन्होंने पहली बार मतदान किया था। मतदान के बाद नेगी को देश के पहले मतदाता होने  का दर्जा प्रापत हुआ था। मालूम हो कि 2014 में हुए चुनाव में नेगी को ब्रांड एंबेसडर भी नियुक्त किय गया था। 

रेड कारपट में हुआ था स्वागत
मंडी लोकसभा उपचुनाव में अपने मत का इस्तेमाल करने पहुंचे नेगी का रेड कारपेट पर जोरदार स्वागत हुआ था। उन्होंने किन्नोर के कल्पा में वोट डाला था। वोट डालने के बाद नेगी ने लोगों से अपील की थी कि वह अपने मत का प्रयोग जरूर करेंगे। उनका कहना था कि देश और प्रदेश की तरक्की के लिए मतदान बहुत ही जरूरी है। 

Related Articles

Back to top button