रूस और यूक्रेन के बीच शुरू जंग में पहली बार महिला कैदियों की अदला-बदली, जानिए पूरा मामला

कैदियों की अदला-बदली के तहत रूस ने जेल में बंद यूक्रेन की 108 महिलाओं को रिहा कर दिया। 24 फरवरी से रूस और यूक्रेन के बीच शुरू जंग में पहली बार महिला कैदियों की अदला-बदली हुई है।

रूस (Russia) ने 108 महिला कैदियों को रिहा कर दिया है। कीव में अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की।  सोमवार को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर इस बारे में जानकारी दी गई। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमिर जेलेन्स्की के हेड स्टाफ एंड्री यरमाक ने कहा कि 24 फरवरी को जंग शुरू होने के बाद से पहली बार दोनों देशों के बीच महिला कैदियों की अदलाबदली हुई है। उन्होंने बताया, ‘कैदियों में मां-बेटियां थीं जो अपने रिश्तेदारों से मिलने का बेसब्री से इंतजार कर रहीं थीं।’

यरमक के अनुसार, मारियूपोल में एजोवस्तल स्टील वर्क्स पर रूस के कब्जे के बाद 108 में से 37 महिलाओं ने सरेंडर किया था। 12 को छोड़ सभी यहां काम करतीं थीं। यरमक ने आगे बताया कि रिहा की गई युवा महिलाओं को अस्थायी तौर पर कब्जे में लिए गए दोनेत्सक व लुहांस्क से गिरफ्तार किया गया था।

रूसी कैद से रिहाई के बाद महिलाओं की होगी मेडिकल जांच 

यूक्रेन वापस लौटीं महिलाओं की मेडिकल जांच कराई जाएगी, इसके बाद इनका पुनर्वास होगा।फेसबुक पर नेवी ने इसकी तस्वीर भी शेयर की है, जिसमें दिखाया गया है कि अज्ञात इलाके से महिलाएं बस पर सवार हुईं और शाम में अंधेरा होने के बाद वे जपारिजझिया के दक्षिणी इलाके में पहुंचीं। कैदियों की अदला बदली में यूक्रेन ने रूस के 80 नाविकों व 30 सेना के जवानों को रिहा किया है

21 सितंबर को रूस की कैद से छूटे थे 215 यूक्रेनी

इससे पहले 21 सितंबर को रूस से 215 कैदियों को रिहा किया गया था। उनमें से 124 यूक्रेनी अधिकारी थे जिनमें हाई प्रोफाइल कमांडर शामिल थे। राष्ट्रपति कार्यालय के प्रमुख के अनुसार यूक्रने के लिए लड़ने वाले दस विदेशियों को भी रिहा किया गया था।

Related Articles

Back to top button