ब्लड शुगर के साथ बुखार को कम करती है कमल ककड़ी, जानिए इससे होने वाले फायदे

कमल के फूल का इस्तेमाल हमेशा पूजा-पाठ में किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कमल के तने (जिसे कमल ककड़ी कहते हैं) से सब्जी भी बनाई जाती है। जी हाँ, यह करी वाली सब्जी बेहद स्वादिष्ट मानी जाती है और इसका सेवन सेहत के लिए बेहद लाभदायक (lotus root benefits) होता है। जी दरअसल कमल ककड़ी से अचार बनता है, जो खाने में खट्टा स्वाद देता है।

यह कई सेहत गुणों से भरपूर होती है जिसे (lotus root benefits) कमल का तना यानी लोटस स्टेम या रूट (lotus root or stem) कहा जाता है। वैसे भारत में अधिकतर लोग कमल ककड़ी खाना पसंद करते हैं। जी हाँ और इसे आप तल कर, भूनकर या फिर भाप में पकाकर भी खा सकते हैं। कमल ककड़ी (benefits of kamal kakdi) पोषक तत्वों का खजाना है और आज हम आपको इसके फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

लिवर को रखे हेल्दी- कमल ककड़ी में मौजूद एक कसैला पदार्थ टैनिन होता है, जो लीवर की रक्षा करता है। जी दरअसल एक अध्ययन के अनुसार, कमल ककड़ी में मौजूद कंडेनस टैनिन लिवर से जुड़ी हिपेटोमिगेली (hepatomegaly) और अल्कोहल फैटी लीवर जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है।

एंटी-ऑक्सिडेंट्स से भरपूर- कमल ककड़ी में एंटीऑक्सीडेंट भी काफी मात्रा में होता है, जो कैंसर और फ्री-रैडिकल्स से होने वाले नुकसानों से हमें बचाता है। जी हाँ और कमल की जड़ें खाने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है।
 
बुखार करे कम- अगर तेज बुखार है, तो आप पैरासिटामोल की बजाय कमल ककड़ी खा सकते हैं। जी दरअसल इसमें बुखार को कम करने वाले गुण मौजूद होते हैं। इससे शरीर को ठंडक मिलती है, इसलिए बुखार में जब शरीर का तापमान अधिक हो, तो कमल ककड़ी का सूप बनाकर पीड़ित को पिलाएं।

सूजन करे कम- सूजन शरीर में कई तरीकों से उभरता है, जैसे कि मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द या रैशेज। ऐसे में इन सभी तकलीफों की जड़ों तक पहुंचने के लिए कमल ककड़ी खाना चाहिए।

ब्लड शुगर करे कंट्रोल- कमल ककड़ी में इथेनॉल का अर्क मौजूद होता है, जो ब्लड शुगर के स्तर को कम कर सकता है। इसी के साथ यह ग्लूकोज टॉलरेंस में सुधार करता है।

डायरिया में खाएं कमल ककड़ी- अगर आपको दस्त की समस्या हो रही है, तो कमल की जड़ें उबालकर उस पानी को पिएं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × one =

Back to top button