डीएम ने दिव्यांगों को योजनाओं का लाभ दिलाने के दिये निर्देश

 दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग ने दिव्यांगों को विभागीय योजनाओं से लाभान्वित किये जाने के लिए जनपद स्तर पर गठित जिला स्तरीय दिव्यांगता समिति की बैठक शुक्रवार को जिलाधिकारी सूर्य पाल गंगवार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी। जिलाधिकारी ने बैठक में जिला स्तरीय दिव्यांगता समिति के साथ तमाम मामलों पर चर्चा की।

लखनऊ (आरएनएस)

 जिसमें दिव्यांगजनों से जुड़ी योजनाओं पर कार्रवाई, दिव्यांगजनों की यूडीआईडी कार्ड, बनाये जाने, दिव्यांग पेंशन,कुष्ठावस्था पेंशन, दिव्यांग पेंशन के लिए दिव्यांगजन का आधार प्रमाणीकरण, केवाईसी सत्यापन, शादी विवाह प्रोत्साहन व पुरस्कार, दिव्यांगजन के पुनर्वासन के लिए दुकान निर्माण, दुकान संचालन, कृत्रिम अंग,सहायक उपकरण उपलब्ध कराने, दिव्यांगजनों को नि:शुल्क मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल, राष्ट्रीय न्यास अधिनियम 1999 के अर्न्तगत स्थानीय स्तर की समिति एवं जिला दिव्यांग बंधु के बारे में, दिव्यांगजनों को यथा संभव सेवायोजित, स्वरोजगार उपलब्ध कराने, दिव्यांगता निवारण  के लिए  शल्य चिकित्सा,काक्लियर इम्पालंट , जिला प्रबन्धन समिति (डीएमटी), दिव्यांगजनों को विभागीय योजनाओं से लाभान्वित किये जाने के लिए प्रचार-प्रसार तथा सुगम्य भारत अभियान के संबंध में कार्रवाई किये जाने के लिए संबंधित को निर्देशित किया गया। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद के दिव्यांगजनों के दिव्यांगता प्रमाण पत्र (यूडीआईडी कार्ड)बनवाये जाने के लिए विभिन्न प्रकार की दिव्यांगता श्रेणी के आधार पर दिन निर्धारित करते हुए अभियान चलाकर लम्बित आवेदन पत्रों का शत-प्रतिशत निस्तारण सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय दिव्यांग वित्त एवं विकास निगम (सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार) द्वारा दिव्यांगजनों को नेशनल हैण्डीकैप्ड फाइनेंस एण्ड डवलेपमेंट कापोर्रेशन (एनएचएफडीसी) योजनान्तर्गत इच्छुक दिव्यांगजनों को स्वरोजगार के लिए ऋण उपलब्ध कराये जाने के लिए कार्यालय जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी के माध्यम से क्षेत्रीय प्रबन्धक आयार्वृत्त ग्रामीण बैंक को आवेदन पत्र प्रस्तुत किये जाए।

राष्ट्रीय न्यूज़

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × four =

Back to top button