शिव मंदिर पर श्रावण के पहले सोमवार को कोरोना महामारी में सोशल डिस्टेंस की उड़ी धज्जियां भारी तादाद में पहुंचे श्रद्धालुओं

धौलपुर जिले में वैश्विक महामारी कोरोना के बीच भी लोगों की आस्था एवं श्रद्धा कम नहीं हो रही है। जिले के ऐतिहासिक सैपऊ के शिव मंदिर पर श्रावण के पहले सोमवार को कोरोना महामारी में भी श्रद्धालुओं सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते हुए भारी तादाद में पहुंचे हैं। सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन की खुलेआम बाहर धज्जियां उड़ाई गई। मंदिर के पास दुकाने भी लग गई और इनको रोकने के लिए प्रशासन ने कोई कदम तक नहीं उठाये।

मंदिर प्रशासन ने शिवलिंग को कोरोना वायरस से दूर रखने के लिए गर्भगृह को बंद करा दिया है। गर्भगृह के बाहर दरवाजों पर पाइप लाइन की फिटिंग कराई गई है। पाइप लाइन के माध्यम से भगवान भोलेनाथ के शिवलिंग को सहस्त्रधारा, गंगाजल एवं दुग्ध अर्पित किए जा रहे हैं। भगवान आशुतोष को बाहर से ही भोग प्रसादी लगाकर पूजा अर्चना की जा रही है। गर्भगृह के अंदर तो भीड़ को रोक दिया गया है। लेकिन बाहर भारी तादाद में भक्तों का जमावड़ा देखा जा रहा है, जिससे मंदिर पर सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ती नजर आई।

श्रावण महीना लगने के बाद आज पहले सोमवार को शिवालयों पर श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। भगवान आशुतोष की पूजा अर्चना करने के लिए महिला एवं पुरुष श्रद्धालु सुबह से ही मंदिरों पर पहुंच गए। भगवान शिव के लिंग पर पुष्प, दुग्ध, शर्करा, रोली, गंगाजल, रुद्राभिषेक आदि कर ज्ञान, वैराग्य एवं भक्ति का वरदान मांगा। सुबह से ही मंदिरों पर श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी कतारें लग गई। सैपऊ उपखंड के ऐतिहासिक शिव मंदिर पर गर्भ ग्रह के अंदर श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक रही।

श्रद्धालुओं को गंगाजल एवं सहस्त्रधारा अर्पित करने के लिए मंदिर प्रशासन द्वारा पाइप लाइन लगाकर वैकल्पिक व्यवस्था की गई। लेकिन मंदिर प्रांगण में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी गई। आस्था में श्रद्धालु कोरोना महामारी की गाइड लाइन में भूल गए। मंदिर में खचाखच भीड़ होने पर सामाजिक दूरी भी दूर-दूर तक दिखाई नहीं थी।

प्रशासनिक व्यवस्थाएं भी लचर एवं गैर जिम्मेदार दिखाई दी। भगवान की भक्ति में लील श्रद्धालु पूजा-पाठ भक्ति इबादत में सरोवार दिखे। गौरतलब है कि इस वर्ष श्रावण के महीने में चार सोमवार पड़ेंगे। ज्योतिष के मुताबिक चारों सोमवार में साधना और आराधना का अच्छा योग माना जा रहा है। बता दे सावन का महीना भगवान शिव को सबसे प्रिय होता है। इसमें सबसे अधिक सोमवार मनोकामना पूरी करने वाला होता है। श्रावण के महीने में सोमवार के व्रत उपवास रखकर भगवान शिव की आराधना करते हैं।

संवाददाता- राकेश गोस्वामी, धौलपुर, नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स

देश और विदेश की ताज़ातरीन खबरों को देखने के लिए हमारे चैनल को like और Subscribe कीजिए
Youtube- https://www.youtube.com/NEXTINDIATIME
Facebook: https://www.facebook.com/Nextindiatimes
Twitter- https://twitter.com/NEXTINDIATIMES
Instagram- https://instagram.com/nextindiatimes
हमारी वेबसाइट है- https://nextindiatimes.com
Google play store पर हमारा न्यूज एप्लीकेशन भी मौजूद है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + thirteen =

Back to top button