दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में खत्म होने वाली हैं केंद्रीय विद्यालयों की गर्मियों की छुट्टियां, अगले हफ्ते से खुलेंगे स्कूल

दिल्ली-एनसीआर समेत देश भर में भीषण गर्मी का कहर जारी है। लू की चपेट में आकर लोग बीमार भी हो रहे हैं। इस बीच देश के कई राज्यों में गर्मियों का अवकाश खत्म हो चुका है, तो यूपी में अगले सप्ताह से स्कूल फिर से खुल जाएंगे। दिल्ली से सटे नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़

यूपी में स्कूल जहां 16 जून से शुरू होंगे तो 17 को केंद्रीय विद्यालयों में गर्मियों का अवकाश खत्म हो रहा है और 18 जून से स्कूल खुल जाएंगे। कुल मिलाकर अगले सप्ताह से यूपी के स्कूलों के साथ केंद्रीय विद्यालय भी खुल जाएंगे। केंद्रीय विद्यालय संगठन के मुताबिक, आगामी 17 जून तक स्कूल बंद रहेंगे और फिर 18 जून से स्कूल खोले जाएंगे, जबकि 7 मई से स्कूलों में गर्मियों का अवकाश शुरू हुआ था। 

16 जून से यूपी में खुलेंगे स्कूल

उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूल में 19 जून से गर्मियों का अवकाश जारी है, जो आगामी 15 जून को खत्म होगा। कुल मिलाकर यूपी में करीब 26 दिन स्कूल बंद रहेंगे। इस बार करीब 26 दिन गर्मी की छुट्टियां मनाने के बाद स्कूल 16 जून को खुलेंगे।

कहां-कहां 18 जून को खुलेंगे केवी स्कूल

  • देहरादून
  • दिल्ली
  • गुरुग्राम
  • फरीदाबाद
  • नोएडा
  • ग्रेटर नोएडा
  • गाजियाबाद
  • चंडीगढ़
  • कोलकाता
  • गुवाहाटी
  • जयपुर
  • जम्मू
  • लखनऊ
  • पटना
  • रांची
  • सिलचर
  • तिनसुकिया
  • वाराणसी
  • अहमदाबाद
  • बेंगलुरु
  • चेन्नई
  • एर्णाकुलम
  • हैदराबाद
  • जबलपुर
  • मुंबई
  • रायपुर
  • भुवनेश्वर
  • भोपाल 

यहां पर बता दें कि वर्ष 1962 में  केंद्रीय विद्यालय संगठन की योजना को केंद्र सरकार की ओर से मंजूरी दी गई थी। शुरुआती दौर में दिल्ली समेत विभिन्न राज्यों में 20 सेना रेजिमेंटों के 20 स्कूलों का केंद्रीय विद्यालयों के रूप में अधिग्रहण किया गया था।

इसके बाद 1965 में केंद्रीय विद्यालय संगठन के रूप में एक स्वायत्तशासी निकाय का गठन किया गया, जिसका उद्देश्य रक्षाकर्मियों एवं अर्ध सैनिक बलों के कर्मचारियों सहित अखिल भारतीय सेवाओं और देश भर में स्थानांतरित होने वाले केंद्रीय कर्मचारियों के बच्चों की एक समान शिक्षा की आवश्यकता पूरी करने के लिए केंद्रीय विद्यालयों की स्थापना करना और उसके काम पर नजर रखना था।

बता दें कि जून, 2013 तक देश में 1073 केंद्रीय विद्यालय थी, जिनमें से तीन विदेश (अर्थात काठमांडू, मास्को एवं तेहरान) में स्थित है। सभी केंद्रीय विद्यालयों में एक जैसे पाठ्‌यक्रम हैं। इसका लाभ यह होता है कि देशभर के स्कूलों में एक ही समय ही एक तरह का पाठ्यक्रम पढ़ाया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 + 16 =

Back to top button