किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा ने जगतपुर में पार्टी की किसान न्याय रैली को संबोधित किया 

किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा इंडियो एयरलाइंस के विमान से रविवार को वाराणसी पहुंचीं। लाल बहादुर शास्त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट से सीधे श्रीकाशी विश्‍वनाथ मंदिर के लिए रवाना हुईं। यहां से दर्शन-पूजन के बाद दुर्गाकुंड में मां कूष्मांडा मंदिर पहुंचीं। जगतपुर में पार्टी की किसान न्याय रैली में को संबोधित करते हुए कहा कि लखीमपुर में किसानों से मिलने प्रधानमंत्री व मुख्‍यमंत्री अभी तक नहीं गए। दुनिया के कोने-कोने तक पीएम घूम सकते हैं, देश-देश भ्रमण कर सकते हैं लेकिन अपने देश के किसानों से भेंट करने नहीं जा सकते। किसान आन्दोलन में अब तक 600 किसानों की मौत हुई लेकिन अभी भी आंदोलन जारी है क्योंकि किसानों को पता है कि हमारे फसल की कीमत उचित नहीं मिलेगी।

सबकुछ पूंजीपतियों के हाथ में चला जायेगा। मोदी जी ने आंदोलन कर रहे किसानों को आन्दोलनजीवी कहा, आतंकी कहा। योगी ने किसानों को उपद्रवी कहा। लखीमपुर में देखा कि देश 6 किसानों को निर्ममता से कुचल दिया। पीड़ित किसानों ने न्याय की मांग की। मैं रात में वहां जाने की कोशिश की तो पुलिस की घेरेबंदी कर मुझे रोकने का प्रयास किया गया। लेकिन अपराधी को पकड़ने को पुलिस नहीं भेजा गया। आरोपी को पुलिस ने निमंत्रण दिया, इतिहास में कभी आपने देखा और सुना नहीं होगा।आजादी का अमृत महोत्सव जो मनाया जा रहा है वो आजादी हमें किसानों ने दिया है, किसान के बेटों ने दिया है। पुलिस प्रशासन विपक्ष के नेताओं को रोकने की कोशिश की।पीड़ित परिवार को नजरबंद किया गया । अपराधियों पर कोई लगाम नहीं है। जिसके बेटे ने ऐसा काम किया उसको बचाने का काम सरकार कर रही है। जो सीएम लखीमपुर जा सकते थे वे उनके हाथ पकड़ने और आंशु पोछने नहीं पहुंचे। इस सरकार में न दलित सुरक्षित हैं, न अल्पसंख्यक सुरक्षित हैं, न महिला सुरक्षित हैं, न नौजवान सुरक्षित हैं। इस देश में केवल प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और उनसे जुड़े लोग और उनके खरबपति मित्र सुरक्षित हैं।

प्रियंका ने कहा कि जो मैंने दो वर्षों में देखा उसका जिक्र कर रही हूं। सोनभद्र में नरसंहार हुआ जिसमें 13 लोगों को मारा गया, जब मैं मिलने गयी तो बहुत कष्ट हुआ। लोग मुझसे बोले मुझे रुपये नहीं न्याय चाहिए। उसके बाद मैं उन्नाव में गयी वहां भी इसी तरह का घटना हुआ। उस मामले में भाजपा के पूर्व विधायक और भाजपा से जुड़े लोग शामिल थे। कोरोना के समय सरकार मदद नहीं की। अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म हो गया था, लोग काफी परेशान हुए। कोरोना के समय रिपोर्ट आई कि हर जगह समस्या है। सरकार ने मदद नहीं की उसके बाद हाथरस कांड हुआ जिसमें एक बेटी को न्याय नहीं मिला। एक पिता से उसके बेटी का दाह संस्कार नहीं करने दिया गया। मुझसे परिवार ने बोला था कि दीदी न्याय चाहिए।

jagran

प्रियंका ने कहा कि अपने अंतरतम में झांकिए एक सवाल पूछिये। तरक्की आयी है। विकास आपके द्वार आया कि नहीं। जीवन में तरक्‍की नहीं हुई तो मेरे साथ कंधा से कंधा मिलाकर सरकार को बदलिए। जो आपको आतंकवादी कहते हैं उनको न्याय देने के लिए मजबूर करिये, कांग्रेस के नेता कार्यकर्ता किसी से नहीं डरते हैं। हमें जेल में डालिये, कुंचलिये लेकिन जबतक न्याय नहीं मिलेगा हम लड़ते रहेंगे, लड़ते रहेंगे, लड़ते रहेंगे। चुनाव की बात नहीं है, अब देश की बात है।समय आ गया है अब। ये देश आपका देश है इस देश को कौन बचाएगा,आप किसान हो इस देश की आत्मा हो। जो आपको आंदोलनकारी कहते है उनको न्याय के लिए मजबूर करिये। कांग्रेस के कार्यकर्ता किसी से नहीं डरते। हम कांग्रेस के कार्यकर्ता है हमें कोई चुप नहीं करा सकता। कोरोना के समय तमाम छोटे व्यपारी को रोजगार बंद करना पड़ा। सरकार ने राहत नहीं दी। प्रधानमंत्री ने दो हवाई जहाज खरीदे। एक हवाई जहाज आठ हजार करोड़ के खरीदे। अपने दोस्तों को बेच दी एयरलाइन। 16 हजार करोड़ का दो हवाई जहाज खरीद और अपने दोस्तों को फायदा पहुंचाने के लिए सरकार ने पूरी एयर इंडिया को 15 हजार करोड़ में ही अपने पूंजीपति और खरबपति मित्र को बेच दी। बिजली नहीं मिल रही है, फिर भी बिजली के बिल मिल रहे हैं, क्या पीएम ने ये देखा है? खेती किसानी के सामानों पर भी सरकार ने जीएसटी लगाया है। पेट्रोल, डीजल महंगा है 1000 से ऊपर रसोई गैस काम दाम।

प्रियंका ने कहा कि ने मुझे बताया की, किसी ने एमए, किसी ने बीए, किसी ने इंजीनियरिंग और उसमें ही कुछ ऐसे ही पढ़े लिखे लोग सफाईकर्मी थे। यह बताता है कि बेरोजगारी चरम पर है। बेरोजगारी चरम पर है। लखनऊ की बस्ती में गई थी। योगी जी ने सफाई करने वालों के प्रति अपशब्द कहे।2.35 से 3.04 तक करीब आधे घंटे तक चला प्रियंका का संबोधन। अंत में लोगों को धन्यवाद देते हुए नवरात्रि की शुभकामनाएं दी। जय माता दी, जय हिंद, जय किसान, जय जवान, जय हिन्द के नारे से खत्म हुआ प्रियंका का संबोधन। प्रियंका अब वापस बाबतपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गई।

jagran

प्रियंका मंदिर पहुंच गईं और दर्शन-पूजन कर रही हैं। गर्भगृह में हो रही पूजा महंत परिवार के बब्लू महंत के आचार्यत्व में मंदिर के पुजारी करा रहे। बिस्मिल्लाह खां के नाती अजदार हुसैन, बन्ने खां, जाहिद हुसैन, आजाद खां ने प्रियंका गांधी का शहनाई धुन से स्वागत किया। प्रियंका गांधी अन्नपूर्णा मन्दिर में भी मत्था टेकने गईं। इसके बाद दुर्गाकुंड स्थित मां कूष्‍माडां मंदिर में पूजा करने पहुंचीं। यहां से अब लंका, सुंदरपुर होते हुए जगतपुर में आयोजित किसान रैली के लिए निकली। इस बीच दुर्गाकुंड के पास भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रियंका के खिलाफ नारे लगाए तो कांग्रेस के कार्यकार्ताओं ने विरोध जताया। इससे माहौल कुछ देर के लिए गर्म हो गया। दुर्गाकुंड से लंका, सुंदरपुर होते हुए किसान रैली स्‍थल जगतपुर पहुंची प्रियंका। रैली में शामिल होने के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी हैं। एयरपोर्ट पर प्रियंका और भूपेश बघेल का पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। एयरपोर्ट पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, पूर्व सांसद राजेश मिश्रा, राष्ट्रीय सचिव प्रमोद तिवारी, विधायक आराधना मिश्रा, पूर्व विधायक अजय राय, त्रिभुवन नाथ पांडेय सहित कांग्रेस के अन्य नेता पहुंच हैं।

jagran

लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर सरकार को घरेने की पूरी तैयारी है। जगतपुर इंटर कालेज मैदान में रविवार दोपहर एक बजे से आयोजित जनसभा को विधानसभा चुनाव अभियान का श्रीगणेश माना जा रहा है। प्रियंका इसकी शुरूआत श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर व दुर्गाकुंड में मां कूष्मांडा का दर्शन कर करेंगी। शारदीय नवरात्र के चौथे दिन देवी के इसी स्वरूप के दर्शन का विधान है।

jagran

प्रोटोकाल के मुताबिक प्रियंका एयरपोर्ट से सीधे बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ दरबार जाएंगी। यहां विधि-विधान से दर्शन-पूजन करने के बाद वह बाबा का अभिषेक कर प्रदेश में सरकार बनाने का संकल्प लेकर आशीष मांगेगी। इसके बाद दुर्गाकुंड स्थित मां कुष्मांडा का दर्शन-पूजन के बाद बीएचयू-सुंदरपुर होते हुए जगतपुर सभा स्थल पहुंचेगी। यहां जनसभा को संबोधित करने के बाद वह सीधे एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगी। इसके बाद एयरपोर्ट के वेटिंग हाल में वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कुछ स्थानीय नेताओं से मुलाकात करेंगी।

jagran

इन रास्‍तों से होकर निकलेगा प्रियंका का काफिला

वाराणसी एयरपोर्ट से प्रियंका का काफिला गिलट बाजार, भोजूबीर, अर्दली बाजार, हुकुलगंज होते हुए सिटी स्‍टेशन अलईपुर, गोलगडढा जाएंगी। यहां पर पार्टी कार्यकर्ता उनका अभिनंदन करेंगे। इसके बाद पीलीकोठी, विश्‍वेश्‍वरगंज, मैदागिन, चौक होते हुए विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचेंगी। यहां गर्भगृह में करीब पंद्रह मिनट पूजन करेंगी। इसके बाद गोदौलिया, जंगमबाडी, मदनपुरा, पांडेयहवेली, सोनारपुरा, शिवाला, रवींद्रपुरी कालोनी होते हुए दुर्गाकुंड स्थित दुर्गा मं‍दिर जाएंग। यहां पूजा-अर्चना के बाद लंका, सुंदरपुर, डीएलडब्‍ल्‍यू गेट से जगतपुर के लिए निकलेंगी।

jagran

सूबे में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है: राष्ट्रीय सचिव व प्रदेश सह प्रभारी राजेश तिवारी

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व प्रदेश सह प्रभारी राजेश तिवारी के अनुसार सूबे में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, बुनकरों और व्यापारियों की समस्या हो या फिर महिलाओं की प्रियंका वाड्रा मंच से सभी मुद्दों पर बात करेंगी। साथ ही वह इन सभी मुद्दों पर सरकार से सवाल भी करेंगी। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी के आंदोलन के बाद से प्रियंका गांधी वाड्रा के तेवर में बदलाव दिख रहा है। उनका जुझारूपन बता रहा है कि विधानसभा चुनाव में वह हर मुद्दे पर लड़ेंगी। इसका आगाज वह पीएम मोदी के गढ़ से कर रही हैं। इसके साथ ही कांग्रेस का यूपी मिशन 2022 अभियान शुरु हो जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − ten =

Back to top button