36वां राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा: नेत्रदान को बढ़ावा देने के लिए KGMU कम्युनिटी आई बैंक ने निकाली जन जागरूकता रैली

रैली प्रशासनिक ब्लॉक केजीएमयू से शुरू होकर चरक चौक, कोनेश्वर चौक, घंटाघर और इमामबाड़ा होते हुए प्रशासनिक ब्लॉक केजीएमयू पर समाप्त हुई

देश में इन दिनों राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा चल रहा है। यह पखवाड़ा हर साल 25 अगस्त से 8 सितंबर तक मनाया जाता है। इस मौके पर आज लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल क़ॉलेज में इस पखवाड़े के तहत जागरूकता रैली निकाली गई। इस रैली को प्रो. वीसी और एक्टिंग वीसी केजीएमयू प्रोफेसर विनीत शर्मा और एचओडी ऑप्थल्मोलॉजी केजीएमयू डॉ. अपजीत कौर ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। हरि झंडी दिखाने के बाद रैली का नेतृत्व चिकित्सा निदेशक नेत्र बैंक डॉ. अरुण शर्मा ने किया।

29 अगस्त की रैली में विभिन्न विभागों के विभिन्न डॉक्टरों, चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ, नेत्र विज्ञान के डॉक्टर और छात्र, नर्सिंग छात्रों और अन्य पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों के छात्रों ने भाग लिया। रैली प्रशासनिक ब्लॉक केजीएमयू से शुरू होकर चरक चौक, कोनेश्वर चौक, घंटाघर और इमामबाड़ा होते हुए प्रशासनिक ब्लॉक केजीएमयू पर समाप्त हुई। भाग लेने वाले हाथों में नेत्रदान की तख्तियां लिए हुए थे। उन्होंने नेत्रदान के बारे में जानकारी युक्त ब्रोशर वितरित किए। उन्होंने नेत्रदान के बारे में मुद्रित नारों वाली टी-शर्ट भी पहनी हैं।

कार्यक्रम के मुख्य प्रतिभागियों में प्रो विनीत शर्मा, प्रो और कार्यवाहक कुलपति केजीएमयू शामिल थे। एचओडी ऑप्थल्मोलॉजी, केजीएमयू डॉ अपजीत कौर, पद्मेंद्र पंवार इंचार्ज मोर्चरी केजीएमयू, सभी नेत्र बैंक कर्मचारी, डॉ. अरुण के शर्मा, केजीएमयू एसोसिएट प्रोफेसर और आई बैंक मेडिकल डायरेक्टर। रैली में नेत्रदान के लिए स्वैच्छिक कार्य कर रहे लोग भी शामिल रहे।

इस मौके पर एसोसिएट प्रोफेसर ऑप्थल्मोलॉजी विभाग और केजीएमयू यूपी कम्युनिटी आई बैंक के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. अरुण शर्मा ने कहा कि जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है कि यह लोगों को नेत्रदान करने के लिए प्रेरित करने का एक अभियान है। अंधापन हमारे राज्य और देश के लिए एक बहुत बड़ी समस्या है। राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा एक ऐसा अभियान है जो मुख्य रूप से इस समस्या को हमारे देश से यथासंभव दूर करने पर केंद्रित है।

डॉ. अरुण शर्मा ने इच्छुक व्यक्तियों से अनुरोध किया कि वे दूसरों को भी उनकी मृत्यु के बाद अपनी आंखें दान करने के लिए प्रेरित करने के लिए काम करें। इसके लिए वे मल्टीमीडिया, प्रिंट मीडिया या ऑनलाइन सेवाओं आदि का उपयोग कर सकते हैं। उन्हें नेत्रदान अभियानों में भी भाग लेना चाहिए और नेत्रदान के लिए पंजीकरण कराना चाहिए।

बता दें कि राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा एक अभियान है जिसका उद्देश्य नेत्रदान के महत्व के बारे में जन जागरूकता पैदा करना और लोगों को मृत्यु के बाद अपनी आंखें दान करने / प्रतिज्ञा करने के लिए प्रेरित करना है। यह अभियान वर्ष 1985 में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW), भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था।

कॉर्निया दान केवल आंख की ऊपरी परत है, पूरी आंख नहीं। नेत्र बैंक मैं 24×7 6390-826-826 पर संपर्क करके आप दो नेत्रहीन व्यक्तियों को दृष्टि दे सकते हैं। बढ़ी हुई जागरूकता और सामुदायिक समर्थन के साथ, हम राज्य में कॉर्नियल ब्लाइंडनेस को खत्म कर सकते हैं।

केजीएमयू यूपी कम्युनिटी आई बैंक, वैश्विक गैर-लाभकारी संगठन, साइटलाइफ द्वारा केजीएमयू और सीतापुर आई हॉस्पिटल के साथ साझेदारी में संचालित और हंस फाउंडेशन द्वारा वित्त पोषित है, जो केजीएमयू में ट्रॉमा सेंटर के अंदर स्थित है। आई बैंक दिसंबर 2016 में स्थापना के बाद से 3000 से अधिक कॉर्निया प्रत्यारोपण कर चुका है। आई बैंक ने किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में हॉस्पिटल कॉर्निया रिटेरिवल प्रोग्राम की स्थापना उच्च प्रशिक्षित और समर्पित 24×7 कर्मचारियों द्वारा की है। नेत्र बैंक हेल्पलाइन नंबर 6390-826-826 सभी पूछताछ और नेत्रदान कॉल को सीधे सामुदायिक नेत्र बैंक से जोड़ता है। 

देश और विदेश की ताज़ातरीन खबरों को देखने के लिए हमारे चैनल को like और Subscribe कीजिए
Youtube- https://www.youtube.com/NEXTINDIATIME
Facebook: https://www.facebook.com/Nextindiatimes
Twitter- https://twitter.com/NEXTINDIATIMES
Instagram- https://instagram.com/nextindiatimes
हमारी वेबसाइट है- https://nextindiatimes.com
Google play store पर हमारा न्यूज एप्लीकेशन भी मौजूद है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × three =

Back to top button