कॉमेडियन भारती सिंह ने अपने शुरुवाती दिनों के संघर्ष के बारे में करी खुलकर बात, किए कई बड़े खुलासे।

कॉमेडियन भारती सिंह ने हाल ही में इंडस्ट्री में अपने शुरुआती दिनों में अपने संघर्षों के बारे में खुलकर बात की। उन्होंने एक महिला होने के नाते गलत व्यवहार का सामना करने को लेकर कुछ बड़े खुलासे किए।

image by google

कॉमेडियन भारती सिंह ने हाल ही में इंडस्ट्री में अपने शुरुआती दिनों में अपने संघर्षों के बारे में खुलकर बात की। उन्होंने एक महिला होने के नाते गलत व्यवहार का सामना करने को लेकर कुछ बड़े खुलासे किए। शो के लोगो ने कभी-कभी दुर्व्यवहार किया, वह पीठ पर हाथ मलते थे। मुझे पता था की यह अच्छा अहसास नहीं है, लेकिन तब भी मैंने सोचा के वह मेरे चाचा की तरह है, वह बुरा नहीं हो सकते। शायद मैं गलत हूँ और वो सही। मुझे कोई समझ नहीं आ रहा था।

भारती ने आगे कहा कि अब उनमें बोलने का आत्मविश्वास और समझ आ गयी है। मुझे अब अपने शरीर के लिए, अपने सम्मान के लिए लड़ने का विश्वास है। मैं अब कह सकता हूं ‘क्या बात है, क्या देख रहे हो, बाहर जाओ हम अब बदल रहे है। मैं अब बोल सकती हूं, लेकिन तब मुझमें हिम्मत नहीं थी।”

मनीष के साथ दिल से दिल की बातचीत के दौरान, भारती ने मनोरंजन उद्योग में कैसे चीजे बदली कैसे उनमे बदलाव आए, वह पहले विषम परिस्थितियों में कैसे रही उन्होने उसके बारे में भी साझा किया। उसने खुलासा किया कि कैसे वह अपनी माँ और बहन के साथ जीवनयापन के लिए कंबल सिलती थी।

भारती ने अपनी बाते कहते हुए साझा किया की घर जाने का मन नहीं करता था। मैं अपने दोस्तों के साथ कॉलेज में ही रहती और वही हॉस्टल में खाना भी खाती थीं। मुझे पता था कि एक बार जब मैं वापस जाऊँगी तो मुझे फिर से गरीबी का सामना करना पड़ेगा और फिर से ज़िंदगी मंद रोशनी में जीनी पड़ेगी। भारती ने आगे बताया की कैसे इक्का-दुक्का कॉमेडियन ने उस समय क्या किया जब उनके पिता ने लोगों से कर्ज लिया था, वे उनके घर आते और उनकी मां के साथ दुर्व्यवहार करते। भारती ने ये सब कुछ खुद सांझा किया और अपने बीते दिनों के दर्द के बारे में बताया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − eleven =

Back to top button