मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, युवाओं के टैबलेट व स्मार्ट फोन चलाने का खर्च भी देगी सरकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवाओं को तकनीक से जोड़ने के लिए उन्हें टैबलेट व स्मार्ट फोन का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश में एक करोड़ से अधिक युवाओं को ये उपकरण दिये जाएंगे। बहुत से युवा भी हैं, जिनके स्वजन के पास इसके संचालन का खर्च उठाने की क्षमता नहीं है, इसे देखते हुए प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि टैबलेट एवं स्मार्ट फोन के साथ डिजिटल एक्सेस दिया जाएगा यानी इसके संचालन पर जो खर्च आएगा उसे सरकार वहन करेगी।

 परियोजनाओं का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री सात जनवरी को सुबह भरोहिया ब्लाक परिसर में ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा के अनावरण व गुरु गोरखनाथ विद्यापीठ में आयोजित कार्यक्रम में करीब 68 करोड़ रुपये लागत की 20 परियोजनाओं को लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर में तीसरी बार टैबलेट एवं स्मार्ट फोन का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश के हर जिले में इसका वितरण हो रहा है, इसके बाद कालेज एवं संस्थानों में वितरण कराया जाएगा।

छात्रों को उपलब्‍ध कराई जाएगी पाठ्य सामग्री

टैबलेट एवं स्मार्ट फोन के साथ विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम के अनुसार अच्छी पाठ्य सामग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए दुनिया की बड़ी कंपनियों के साथ अनुबंध किया जा रहा है। पढ़ाई पूरी करने के बाद युवा रोजगार की ओर से अग्रसर हो सकें, इसके लिए केंद्र एवं प्रदेश सरकार की रोजगार से जुड़ी योजनाओं का लिंक भी इन उपकरणों में दिया जा रहा है। एक क्लिक पर किसी भी योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकेगी और युवा अपना विकल्प चुन सकेंगे

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिलेगी निश्‍शुल्‍क कोचिंग

किसी भी तरह की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए अभ्युदय के नाम से निश्शुल्क कोचिंग का संचालन किया जा रहा है और इसके तहत भी 10 हजार युवाओं को टैबलेट एवं स्मार्ट फोन दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना का प्रकोप फिर बढ़ रहा है। कक्षाएं आनलाइन चलेंगी और परीक्षाएं भी आनलाइन हो सकती हैं। इसके लिए ये उपकरण काफी उपयुक्त होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब प्रदेश का युवा स्वयं को स्मार्ट युवा कह सकता है।

तेजी से बढ़ रहा है नए भारत का नया उत्‍तर प्रदेश

नए भारत का नया उत्तर प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है। पिछले पौने पांच साल में 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी उपलब्ध कराई गई है। 1.61 करोड़ लोगों को अन्य क्षेत्रों में नौकरी दी व रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए गए। उन्होंने कहा कि सफलता के लिए कोई शार्टकट नहीं होता, मेहनत करिए। उन्होंने कहा कि ज्ञान की कोई सीमा नहीं होती इसलिए जितना ज्ञान अर्जित कर सकते हैं अर्जित करिए और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के माध्यम से आगे बढ़िए।

कई युवाओं को उपलब्‍ध कराया स्‍वरोजगार का अवसर

कई युवाओं को स्वरोजगार का अवसर उपलब्ध कराया गया। मुख्यमंत्री ने मंच से कछ बच्चों को स्मार्ट फोन भी वितरित किया। इससे पहले उन्होंने बटन दबाकर करीब 51 करोड़ रुपये लागत की 15 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 17 करोड़ रुपये लागत की पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्टेट इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट की स्थापना से यहां के युवाओं को नए अवसर उपलब्ध होंगे। संचालन ऋक रिचा पांडेय ने किया। इस दौरान कैंपियरगंज के विधायक फतेहबहादुर सिंह, सहजनवा के विधायक शीतल पांडेय, खजनी के विधायक संत प्रसाद, भरोहिया के ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह आदि उपस्थित रहे।

तीसरी लहर खतरनाक नहीं लेकिन सतर्कता जरूरी

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने युवाओं से पूछा कि कितने लोगों ने टीका लगवाया है। अधिकतर की ओर से हां में जवाब में मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने प्रसन्नता जताते हुए कहा कि कोरोना की तीसरी लहर खतरनाक नहीं है लेकिन सतर्कता बहुत जरूरी है। कहीं भी जाएं तो मास्क का प्रयोग जरूर करें। कोविड 19 के प्रोटोकाल का हर हाल में पालन करें। कोरोना के विरुद्ध लड़ाई जीतनी है तो सभी को सहभागी बनना होगा। जो लोग पहले से बीमार होंगे, जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कम होगी, उन्हें लापरवाही से नुकसान हो सकता है। हमें घबराना नहीं है, सतर्क रहना है। सभी लोग टीका जरूर लगवाएं।

भरोहिया से था ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का विशेष लगाव

मुख्यमंत्री ने कहा कि भरोहिया से ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का विशेष लगाव था। पितेश्वरनाथ मंदिर के जलाशय का सुंदरीकरण हो, गुरु गोरखनाथ विद्यापीठ की स्थापना या समय-समय पर मंदिर का सुंदरीकरण का कार्य रहा हो, उसके लिए वह प्रयासरत रहते थे। भरोहिया मानीराम विधानसभा का क्षेत्र था और गोरखपुर संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है। ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ यहां से पांच बार विधायक व चार बार सांसद रहे। यहां के हर व्यक्ति को वह पहचानते थे। यहां स्थापित उनकी भव्य प्रतिमा यहां के लोगों को जनसेवा के साथ सामाजिक समता के निर्माण के लिए प्रेरणा देगी। प्रतिमा स्थापना के लिए उन्होंने भरोहिया ब्लाक के प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह को धन्यवाद दिया।

इन परियोजनाओं का हुआ

-कसिहार-सेमरा मानिक चक संपर्क मार्ग पर 35.26 करोड़ की लागत से राप्ती नदी के लिए चंदा घाट

– जिला सूचना कार्यालय/ सूचना संकुल, लागत 3.05 करोड़

– रुपनारी संपर्क मार्ग, लागत 75.88 लाख

– कुरौली संपर्क मार्ग, लागत 79.57 लाख

-भरवलिया बुजुर्ग संपर्क मार्ग से कजाकपुर, विवेकपुरम संपर्क मार्ग, लागत 70.32 लाख

-भरवलिया बुजुर्ग संपर्क मार्ग से पंचवटी संपर्क मार्ग, 66.14 लाख

 

-सहजनवां में स्थित कबीर धूनी/ गोरख तलैया का सुंदरीकरण, लागत 4.10 करोड़

– आधुनिक स्वागत केंद्र का जीर्णोद्धार व सुंदरीकरण, लागत 87.99 लाख

-जिला कारागार में 120 बंदियों के लिए बैरक, लागत 1.80 करोड़

-राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय नरेखास, लागत 14.25 लाख

– राजकीय आयुर्वेदिक चि‌कित्सालय, दईडीहा, लागत, 14.09 लाख

– राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय, भाटपार बंकट, लागत 12.94 लाख

 

– राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय, आसौंजी, लागत14.58 लाख

– जिला कारागार में 30 बंदी क्षमता की सर्किलवाल सहित महिला बैरक, लागत 92.23 लाख

– जिला कारागार के भीतर सीसी रोड, लागत 98.42 लाख

‌इन परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास

– स्टेट इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट, लागत 16.29 करोड़

– गोरखनाथ मंदिर परिसर में मेला ग्राउंड स्थल का पर्यटन विकास, लागत 64.48 लाख

– सरदारनगर के बसडीला स्थित ऋषि सरोवर का सुंदरीकरण, लागत 21.72 लाख

– सरदारनगर में स्थित बुद्ध विहार संबद्ध/ डा. भीमराव अंबेडकर स्थल का पर्यटन विकास, लागत 6.41 लाख

-सहजनवां स्थित मदुई शिव मंदिर स्थल का पर्यटन विकास कार्य, लागत 9.82 लाख

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × one =

Back to top button