मुख्यमंत्री ने अयोध्या के विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए कहा, नगरवासियों को उत्कृष्ट बुनियादी सुविधाएं कराई जाएं उपलब्ध

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न विकास परियोजनाओं के लिए प्रत्येक स्तर पर त्वरित निर्णय लेकर सभी योजनाओं को निर्धारित टाइम लाइन में पूरा किया जाए। उन्होंने नगरवासियों को उत्कृष्ट बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए हैं।

लखनऊ (आरएनएस)

मुख्यमंत्री बुधवार की देर शाम कों अपने सरकारी आवास पर आहूत एक बैठक में जनपद अयोध्या में संचालित विभिन्न विकास परियोजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम के मंदिर के निर्माण के बाद अयोध्या में विशाल संख्या में श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों का आगमन होगा। वर्तमान में भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु प्रतिदिन आ रहे हैं। इसके दृष्टिगत अयोध्या के दूरगामी विकास के लिए 03 प्रमुख पथ निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने तीनों मार्गों के लिए भूमि अधिग्रहण और पुनर्वास सम्बन्धी कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सहादतगंज नया घाट मार्ग से सुग्रीव किला होते हुए श्रीराम जन्मभूमि मंदिर तक जाने वाले श्रीराम जन्मभूमि पथ के कार्यों को आगामी मार्च तक पूरा किया जाए। अयोध्या मुख्य मार्ग से हनुमानगढ़ी होते हुए श्रीराम जन्मभूमि तक जाने वाले भक्ति पथ को अक्टूबर 2023 तथा सहादतगंज से नया घाट जाने वाले राम पथ के कार्यों को दिसम्बर 2023 तक पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन मार्गों के साथ-साथ उन पर प्रॉपर डेªनेज सिस्टम, यूटीलिटी सेवाओं, फुटपाथ आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या को सोलर सिटी तथा क्लीन व ग्रीन सिटी के रूप में विकसित किया जाना है। इसके दृष्टिगत सभी कार्य प्राथमिकता पर सुनिश्चित किए जाएं। उन्होंने बिजली के तारों को यथाशीघ्र अण्डरग्राउण्ड किए जाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि नया घाट चैराहा, अयोध्या में सांस्कृतिक महत्व के विभिन्न स्थानों को जोड़ने वाला एक प्रमुख स्थल है। इसके दृष्टिगत इस चैराहे को लता मंगेश्वर स्मृति चैक के रूप में विकसित किए जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने स्मृति चैक के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने अयोध्या में निर्माणाधीन 04 पार्किंग के कार्यों की भी समीक्षा की।  न्होंने कहा कि अयोध्या नगरी में आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटकों को वाहन पार्किंग की कोई समस्या न हो, इसलिए टेढ़ी बाजार पूर्वी दिशा, टेढ़ी बाजार पश्चिमी दिशा, कौशलेश कुंज तथा अमानीगंज पार्किंग के निर्माण कार्यों को समय से पूरा किया जाए।  

Tags : #upnews #uttarpradesh #Ayodhya #UPCM #adityanathyogi #hindinews #instructions

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button