भाजपा में फिर जयविलास युग : गृह मंत्री अमित शाह द्वारा मराठा गैलरी के लोकर्पण के राजनीतिक मायने

भारतीय जनता पार्टी को स्थापित करने में अहम भूमिका निभाने वाली राजमाता विजय राजे सिंधिया का जयविलास युग अब दोबारा अपने भव्य अंदाज में लौट रहा है। दादी की तरह ही पोते को भाजपा उसी सम्मान के साथ स्थान देने की तैयारी में है। इस दौर में जो भी दाग थे वो भी संगठन और महल के तालमेल से बड़ी सफाई से धो लिए गए हैं। 

मध्यप्रदेश (आरएनएस)

जयविलास पैलेस से भाजपा की नींव खड़ी हुई। जितना तन, मन और धन से सहयोग जयविलास से विजयाराजे सिंधिया ने किया उतना शायद ही कहीं और से हुआ हो। राजमाता के बाद उनकी बेटी यशोदरा राजे ने भाजपा में बागडोर तो संभाली लेकिन वे प्रदेश स्तर की राजनीति तक ही सीमित रहीं। उनके भाई माधवराव कट्टर कांग्रेसी रहे। समय बदला और कांग्रेस से राजनीति का ककहरा सीखने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी में अनदेखी से त्रस्त होकर भाजपा की ओर रुख कर लिया। एक पढ़े लिखे युवा नेता और राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छवि रखने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया में भाजपा और संघ ने अपनी सेकंड लाइन का दमदार चेहरा ढूंढ लिया। राज्यसभा पहुंचाने के साथ ही केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री की कुर्सी भी दी। अब जयविलास में भाजपा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सबसे ज्यादा वजहन रखने वाले गृहमंत्री अमित शाह की अगवानी चर्चा का विषय है। जयविलास पैलेस में गृहमंत्री अमित शाह ने गेस्ट डायरी में संदेश लिखा। शाह ने लिखा-वीर मराठा योद्धा श्री महादजी सिंधिया के वंशजों द्वारा बनाया सिंधिया साम्राज्य और उनके सत्ता केंद्र पर मराठा और छत्रपति शिवाजी महाराज से लेकर अट्टक से कटक तक फैली हिंदवी स्वराज्य का संग्रहालय देखकर गौरव की अनुभूति हो रही है। महादजी सिंधिया द्वारा पानीपत के युद्ध जो हिंदवी स्वराज खत्म हो गया था, उसे फिर स्थापित किया, उनकी वीर गाथा सदियों तक स्वराज और स्वधर्म का संदेश देती रहेंगी।

Tags : #politicsnews #politics #marathaGallery #inaugurated #marathaCommanders #HomeMinister #AmitShah #Hindinews

Rashtriya News 

Related Articles

Back to top button