घर में गैर-कानूनी रूप से पटाखे बनाने से हुआ धमाका, महिला सहित पाँच लोग घायल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के भंडरिया टोला में शनिवार शाम लगभग साढ़े पाँच बजे एक मकान में गैर-कानूनी रूप से बनाए जा रहे पटाखे के बारूद में आग लग गई। कुछ देर बाद ही तेज विस्फोट के साथ मकान का बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। धमाके की वजह से किसी की बाउंड्री गिरी तो किसी का कमरा ही ध्वस्त हो गया। बगल के एक मकान को भी नुकसान पहुँचा है। हादसे में महिला सहित पाँच लोग जख्मी हो गए। सभी को उपचार के लिए अस्पताल पहुँचाया गया। 

जानकारी के अनुसार, भंडरिया टोला पाही मोहल्ला का निवासी मुस्ताक अपने मकान में कई सालों से अवैध तरीके से पटाखा बनाने व बेचने का काम करता था। दीपावली होने के कारण पूरा परिवार पटाखा बना रहा था। शनिवार शाम घर में रखे बारूद के ढेर में अचानक आग भड़क गई। जिसके कुछ ही देर बाद ही भीषण विस्फोट हुआ और मकान का बड़ा हिस्सा ढह गया। हालाँकि, CO मड़ियाहूँ ने बताया कि यहाँ पटाखा नहीं बनाया जा रहा था। बल्कि दीवाली के अवसर पर बेचने के लिए लाइसेंसी दुकानदार की तरफ से पटाखा खरीदकर कर रखा गया था। धमाके की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुँचे और मलबे में दबे परिवार के लोगों को बाहर निकाला। महिला सहित सभी पाँच घायलों को CHC ले जाया गया, जहाँ प्राथमिक इलाज के बाद सभी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। घायलों के नाम मुस्ताक, नसीम, असद, अंशु और गुड़िया हैं। गुड़िया व मुश्ताक गंभीर रूप से जख्मी हैं।

पुलिस ने बताया है कि पटाखे का लाइसेंस 31 मार्च 2024 तक बना हुआ है, जो पहले इम्तियाज के पिता बाबू के नाम था। जिसके बाद उसकी अम्मी अनवरी के नाम पर रहा। 2017 में उसकी मौत के बाद 31 मार्च 2017 को इम्तियाज के नाम से लाइसेंस बना है। पुलिस ने बताया है कि लाइसेंस पटाखा बेचने का है, मगर बनाने की इजाजत नहीं है। इसकी क्षमता 250kg तय की गई है। पाँच भाइयों का सम्मिलित परिवार है, कुल मिलाकर इनके परिवार में 30-35 लोग हैं। बताया गया कि मुस्ताक ने गोंद/लेई बनाने के लिए गैस जलाया था, उसी दौरान पटाखे में आग लग गई, जिससे यह विस्फोट हो गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − four =

Back to top button