तस्वीरों में…न्यूयॉर्क में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर ‘सोल्स्टिस फॉर टाइम्स स्क्वायर 2021′ कार्यक्रम का आयोजन, जनजातीय उत्पादों को प्रदर्शित किया गया

कार्यक्रम में विशेष आकर्षण का केंद्र, प्रदर्शन के लिए लगाए गए स्टॉल थे, जहां प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले और आयुर्वेदिक उत्पाद सहित अद्वितीय प्राकृतिक जनजातीय उत्पादों को प्रदर्शित किया गया

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर, न्यूयॉर्क में भारत के
कांसुलेट जनरल ने टाइम्स स्क्वायर में योग, समग्र स्वास्थ्य,
आयुर्वेद और तंदुरूस्ती को प्रदर्शित करने के लिए एकदिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में 3,000 से
अधिक लोगों ने हिस्सा लिया, न्यूयार्क के इस प्रतिष्ठित स्थान
पर आयोजित यह कार्यक्रम एक प्रमुख आकर्षण था।

 इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण का केंद्र, प्रदर्शन के लिए लगाए गए स्टॉल थे, जहां प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले और आयुर्वेदिक उत्पाद सहित अद्वितीय प्राकृतिक जनजातीय उत्पादों को प्रदर्शित किया गया था। इसमें जनजातीय उत्पादों की एक श्रृंखला शामिल है, जिसमें जैविक और जरूरी प्राकृतिक प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाले उत्पाद शामिल हैं। इन उत्पादों में बाजरा, चावल, मसाले, शहद, च्यवनप्राश, आंवला, अश्वगंधा पाउडर, हर्बल चाय व कॉफी और सहायक उपकरण जैसे; योग चटाई, बांसुरी, हर्बल साबुन और सुगंधित मोमबत्तियां आदि हैं। इन स्टॉलों पर लोगों की बड़ी संख्या देखी गई और भारतीय जनजातियों व जनजातीय उत्पादों की विशिष्टता के बारे में जानने में बहुत रुचि व्यक्त की गई।

जनजातीय उत्पादों को बढ़ावा देने और जनजातीय उद्यमियों को बड़े राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों तक पहुंच से जोड़ने के अपने मिशन के एक भाग के रूप में, ट्राइफेड ने अमेरिका में जनजातीय उत्पादों को लोकप्रिय बनाने के लिए इस आयोजन को लेकर न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास के साथ सहयोग किया। इस कार्यक्रम की सफलता के बाद अब आगे की संभावनाओं की भी तलाश की जा रही है, जो जनजातियों को अपने उत्पादों की अनूठी श्रृंखला को एक बड़े स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय दर्शकों के सामने प्रदर्शित करने का मौका देंगे।

वहीं कुछ संभावित अवसरों का पता लगाया जा रहा है। इनमें ट्राइब्स इंडिया के उत्पादों को भारत के महावाणिज्य दूतावास न्यूयॉर्क कार्यालय की उपहार देने वाली उत्पाद सूची में शामिल करना, संयुक्त राज्य अमेरिका में ट्राइब्स इंडिया के साथ सांस्कृतिक और नवाचार केंद्रों के गठजोड़ की संभावना और पूर्वी व पश्चिमी समुद्री तट पर टिकाऊ आजीविका परियोजनाओं के लिए एक साथ काम करने के संभावित मौके, जैसे कुछ अवसर हैं।



लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप YouTube से जुड़े
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप Twitter से जुड़े
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
नेक्स्ट इण्डिया टाइम्स समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 12 =

Back to top button