अमेरिकी अधिकारियों ने पाक के बाढ़ प्रभावित जिलों का किया दौरा.. 

अमेरिकी राहत सहायता में पाकिस्तान में भ्रष्टाचार की खबरों पर एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यदि ऐसा कुछ है जिसे हम न केवल पाकिस्तान में बल्कि दुनियभर में कहीं भी इसे बहुत गंभीरता से लेते हैं। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और अमेरिकी राहत सहायता की लूट की खबरों पर वाशिंगटन ने चिंता जाहिर की है। बाइडन प्रशासन ने मंगलवार को कहा कि वह न केवल पाकिस्तान में बल्कि दुनियाभर में कहीं भी, जहां अमेरिकी करदाताओं का डॉलर फंसा हुआ है। वह इस मामले को बहुत ही गंभीरता से लेता है। यह बात अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने मंगलवार को कही।

अमेरिकी अधिकारियों ने पाक के बाढ़ प्रभावित जिलों का किया दौरा 

ट्रैकिंग तंत्र की निगरानी और सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों पर प्राइस ने कहा कि सबसे पहले यूएसएआईडी कर्मचारी वे क्षेत्र में हमारे कार्यक्रमों की निगरानी के लिए नियमित दौरे करते हैं। हमारे पास एक आपदा सहायता प्रतिक्रिया टीम है। इसे डार्ट (DART) कहा जाता है। उनके सदस्यों ने सिंध प्रांत के बलूचिस्तान में 10 से अधिक बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा भी किया है।

मानवीय हित में दी जाती है वित्तीय सहायता

अमेरिकी राहत सहायता में पाकिस्तान में भ्रष्टाचार की खबरों पर एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यदि ऐसा कुछ है, जिसे हम न केवल पाकिस्तान में बल्कि दुनियभर में कहीं भी इसे बहुत गंभीरता से लेते हैं। पाकिस्तान में आई बाढ़ को लेकर अमेरिका ने तत्काल मानवीय हित में यह वित्तीय सहायता दी है।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र और आबादी के बारे में है व्यापक जानकारी 

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता प्राइस ने बताया कि यूएसएआईडी के भागीदार स्थानीय संगठनों के साथ वह काम करते हैं, जिन्हें  बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों और उनकी आबादी के बारे में व्यापक जानकारी है। हमें गतिविधियों की प्रगति और किसी भी सुरक्षा चिंताओं पर नियमित कार्यक्रम अपडेट प्रदान करने की भी आवश्यकता होती है।

अमेरिका ने पाक को दिया है बड़ी मात्रा में फंड

अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार बाइडन प्रशासन ने इस साल पाकिस्तान को बाढ़ राहत और मानवीय सहायता के रूप में लगभग 56.5 मिलियन अमेरिकी डालर के साथ-साथ खाद्य सुरक्षा सहायता में अतिरिक्त 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर प्रदान किए हैं।

Related Articles

Back to top button