बाढ़ ग्रस्‍त इलाकों के हवाई दौरे के बाद CM योगी ने अपने अफसरों को दिया ये आदेश, जानें क्या

यूपी के कई हिस्‍से इस वक्‍त बाढ का सामना कर रहे हैं। ऐसे में सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीरनगर और गोरखपुर जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद तीनों जिलों में पीड़ितों से मुलाकात कर राहत किट बांटी। उन्‍होंने बाढ़ पीड़ितों को आश्वस्त किया कि सरकार हर पल उनके साथ है। उन्‍होंने कहा कि हर पीड़ित को हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। जनहानि से लेकर फसलों और पशु हानि तक की भरपाई सरकार कर रही है। डबल इंजन सरकार के रहते किसी के आगे हाथ फैलाने की आवश्यकता नहीं है। जनता को राहत सरकार की प्राथमिकता है।

गोरखपुर के बड़हलजगंज और सदर तहसील के लालडिग्गी क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री वितरण के दौरान योगी ने कहा कि प्रशासन को निर्देशित किया गया है कि पर्याप्त संख्या में नाव व स्टीमर लगाकर दो से तीन दिन के भीतर राहत सामग्री प्रत्येक पीड़ित तक पहुंचा दें। अगले एक-दो दिन तक गांव में पानी भरा रहने की स्थिति हो सकती है फिर धीरे-धीरे पानी उतरता जाएगा। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि पानी उतरने के साथ ही सैनेटाइजेशन अभियान चलाएं ताकि बीमारियां न पनपने पाएं।

क्षतिग्रस्त मकान की भरपाई करेंगे योगी ने कहा कि सरकार बाढ़ आपदा से हुई हर प्रकार की क्षति पर सरकार मुआवजा देगी। बाढ़ के चलते जिन लोगों के मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं उन्हें मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत घर या मकान के लिए 1.20 लाख रुपये की सहायता राशि तत्काल उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। राहत पैकेट पर्याप्त उपलब्ध सीएम ने कहा कि जिला प्रशासन को पर्याप्त राहत पैकेट उपलब्ध कराया जा चुका है। दुर्भाग्य से यदि जनहानि होती है तो पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता तथा अंग भंग होने की दशा में 2.50 लाख तक की सहायता राशि उपलब्ध कराई जाएगी।

तटबंध पार रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर बसाएं

संतकबीरनगर में धनघटा के छपरा मगर्वी में दिव्यांश पब्लिक स्कूल परिसर में राहत वितरण के दौरान योगी ने अधिकारियों से कहा कि तहसील क्षेत्र में सरयू नदी के तटबंध के उस पार रहने वाले लोगों को हर साल बाढ़ आपदा की स्थिति का सामना करने से बचाने के लिए इस पार सुरक्षित स्थान पर बसाने की कार्ययोजना बनाएं।

फसल-पशु क्षति का सर्वे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फसलों को नुकसान का तत्काल सर्वे कराने का निर्देश दिया गया है। एक-एक खेत के नुकसान का मुआवजा राज्य सरकार देगी। इतना ही नहीं गाय, भैंस, भेड़, बकरी आदि पशु हानि की दशा में भी सरकार पशुपालकों को आर्थिक सहायता दे रही है।

पशु चारे का इंतजाम सीएम ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रति दिन के हिसाब से चार किलो पशु चारा प्रत्येक पशु के लिए मुहैया का निर्देश पशुपालन विभाग को दिया गया है। मुर्गी पालकों को भी नुकसान की भरपाई सरकार करेगी।

बाढ़ प्रभावित जिले

जिला प्रभावित गांव आबादी

गोरखपुर 160 डेढ़ लाख

सिद्धार्थनगर 198 डेढ़ लाख

बस्ती 70 एक लाख

संतकबीरनगर 19 10 हजार

महराजगंज 20 40 हजार

देवरिया 03 12 हजार

कुशीनगर 14 30 हजार

Related Articles

Back to top button