सर्जरी के जरिये 18 गोवंशीय पशुओं के पेट से निकाली पॉलिथीन

 मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट आवारा गौवंशो को आश्रय देने के लिए राजधानी में कान्हा उपवन जैसी एक महत्वपूर्ण परियोजना को लागू किया गया था। इसी क्रम में कान्हा उपवन में हजारों निराश्रित गौवंशों को आश्रय देकर उन्हें संरक्षित किया जा रहा है। अब कान्हा उपवन में मौजूद गौवंशों को जीवनदान देने के लिए पशु चिकित्सा द्वारा रुमेनोटामी नामक विधि के जरिये से उनके पेट का आॅपरेशन कर पॉलिथीन निकालने की प्रक्रिया को हाल ही में शुरू किया गया है,जोकि काफी कारगर साबित हो रही है। वर्तमान समय मे गौवंशो के जीवन पर प्लास्टिक की थैलियां भारी पड़ रही हैं। जिससे पेट में पॉलिथीन जाने से पॉलिथीन उनकी आहार नली में फंसने के कारण उन्हें असुविधा होने लगती है व अन्य तमाम प्रकार की विकृतियां होने के आसार भी बढ़ जाते हैं। जिस वजह से इस बड़ी समस्या के कारण आए दिन न जाने कितने बेजुबान काल के गाल में समाते जा रहे हैं। 

लेकिन अब नगर निगम द्वारा कान्हा उपवन में गौंवंशो के आॅपरेशन की प्रक्रिया को शुरू करकेएक नई पहल की शुरूआत हो गई है तथा बेजुबानों को जीवनदान देने का कार्य किया जा रहा है। शुक्र वार को इस बारे में नगर निगम में तैनात पशु कल्याण अधिकारी डॉ.अभिनव वर्मा ने बताया कि शुरूआती दौर में रुमेनोटोमी विधि से कान्हा उपवन में तैनात पशु चिकित्सकों द्वारा प्रथम चरण में सप्ताह में 03 दिन गोवंश की शल्य चिकित्सा
(आॅपरेशन)किया जा रही है। वहीं गायों द्वारा खाई गई पॉलीथीन गाय के पेट में रूमेन के एक हिस्से में एकत्रित हो जाती है,जिसे शल्य क्रिया
(रूमेनोटामी) द्वारा निकाला जाता। आॅपरेशन के अभाव में यही पॉलीथीन आहार नली को चोक कर देती है, जिस कारण गोवंश की असमय मृत्यु
 हो जाती हैं। आगे बताया कि शुक्रवार तक कान्हा उपवन में 18 गोवंशीय पशुओं की सफल शल्य चिकित्सा की गई। अब गौवंशो में आने वाली पॉलिथीन की समस्या का निस्तारण सफलतापूर्वक नगर निगम के माध्यम से पशु चिकित्सकों द्वारा नगर आयुक्त अजय द्विवेदी के निर्देशन तथा संयुक्त निदेशक पशु कल्याण डॉ. अरविन्द राव के मार्गदर्शन में किया जा रहा है। नगर आयुक्त ने बताया कि भविष्य में निरंतर शल्य चिकित्सा के जरिये रुमेनोटामी विधि से प्रतिदिन बेजुबान गौवंशो का इलाज किया जाएगा, जिससे गायों के पेट में पॉलीथीन की समस्या का स्थाई निस्तारण संभव हो पाएगा।

Rashtriya News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen + ten =

Back to top button