सीमेंट कारोबार में 477 करोड़ की हुई बड़ी डील

इंडिया सीमेंट्स ने अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड (एसएमपीएल) में अपनी पूरी हिस्सेदारी जेएसडब्ल्यू समूह की सहायक कंपनी जेएसडब्ल्यू सीमेंट को 476.87 करोड़ रुपये में बेच दी है। सीमेंट उद्योग में यह एक बड़ी डील है।

India Cements ने स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड (एसएमपीएल) में अपनी पूरी हिस्सेदारी जेएसडब्ल्यू सीमेंट को 476.87 करोड़ रुपये में बेचने के लिए समझौता किया है। 10 अक्टूबर को एक नियामकीय फाइलिंग में इस बात की जानकारी दी गई।

स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के पास मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में चूना पत्थर युक्त जमीन के पट्टे हैं। इसके अलावा स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक सीमेंट प्लांट स्थापित करने की प्रक्रिया में है।

सीमेंट कारोबार में बड़ी डील

इंडिया सीमेंट्स लिमिटेड (आईसीएल) ने एक नियामकीय फाइलिंग में कहा कि ‘कंपनी ने 10 अक्टूबर, 2022 को जेएसडब्ल्यू सीमेंट लिमिटेड के साथ एक शेयर खरीद समझौता किया है और एसएमपीएल में उसके द्वारा रखी गई पूरी हिस्सेदारी को 476.87 करोड़ रुपए में बेच दिया है।’

इसका मतलब यह हुआ कि एसएमपीएल आईसीएल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी नहीं रह गई है। सौदा इस साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। बयान के अनुसार, कुल 476.87 करोड़ रुपये में से आईसीएल को सोमवार को जेएसडब्ल्यू सीमेंट से 373.87 करोड़ रुपये मिले।

इस तरह पूरा होगा सौदा

शेयर खरीद समझौते की कुछ शर्तों के पूरा होने पर जेएसडब्ल्यू 31 दिसंबर, 2022 को या उससे पहले 103 करोड़ की शेष राशि जारी करेगा। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए SMPL की कुल संपत्ति14.22 करोड़ आंकी गई है। इंडिया सीमेंट्स ने अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक स्प्रिंगवे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड (एसएमपीएल) अब उद्योगपति सज्जन जिंदल द्वारा नियंत्रित जेएसडब्ल्यू समूह की सहायक कंपनी जेएसडब्ल्यू सीमेंट के पास चला गया है।JSW सीमेंट, 22 बिलियन डॉलर की पूंजी वाले JSW समूह का हिस्सा है, जिसकी वर्तमान क्षमता 17 मिलियन टन प्रति वर्ष (MTPA) है। यह 2023 तक 25 एमटीपीए उत्पादन क्षमता रखने की योजना बना रहा है और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपना निवेश लगातार बढ़ा रहा है। आईसीएल की कुल क्षमता 15.5 एमटीपीए है।

Related Articles

Back to top button