पिछले 24 घंटे में देशभर में 13734 लोग वायरस से संक्रमित

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देशभर में 13734 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं.

 भारत में कोरोना वायरस के नए मामलों में कई आई है और पिछले 24 घंटे में बड़ा बदलाव देखने को मिला है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देशभर में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 13 हजार 734 नए मामले दर्ज किए गए हैं. इसके बाद कोविड-19 के कुल संक्रमितों की संख्या 4 करोड़ 40 लाख 50 हजार 9 हो गई है.

2 दिनों में कोरोना के नए मामलों में आई बड़ी गिरावट

देश में कोविड-19 के नए मामलों में पिछले 2 दिनों में बड़ी गिरावट आई है. इससे पहले सोमवार (1 अगस्त) को कोराना वायरस के 16464 नए केस सामने आए थे, जबकि रविवार को 19673 केस दर्ज किए गए थे.

एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 1.4 लाख से कम

कोरोना वायरस के नए मामलों में कमी के साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या में भी कमी आई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देशभर में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 1 लाख 39 हजार 792 हो गई है.

दिल्ली में कोरोना के 822 नए मामले सामने आए

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार (1 अगस्त) को कोरोना वायरस संक्रमण के 822 नए मामले सामने आए, जिससे संक्रमण दर बढ़कर 11.41 फीसदी पर पहुंच गई, जो पिछले छह महीनों में सर्वाधिक है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में सोमवार को कोविड-19 से दो और लोगों की मौत हो गई. इसके बाद महामारी की वजह से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 26313 पर पहुंच गई है. 822 नए मरीज मिलने से दिल्ली में अब तक संक्रमित हो चुके लोगों का आंकड़ा बढ़कर 19,56,593 हो गया.

छह महीनों में सर्वाधिक स्तर पर पहुंची संक्रमण दर

आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में संक्रमण दर बढ़कर 11.41 फीसदी पर पहुंच गई है, जो पिछले छह महीनों में सर्वाधिक है. इससे पहले, राष्ट्रीय राजधानी में 24 जनवरी को संक्रमण दर 11.79 प्रतिशत दर्ज की गई थी. दिल्ली में रविवार तक लगातार पांच दिन से एक हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए थे. रविवार को राष्ट्रीय राजधानी में 1,263 मरीजों में कोविड-19 की पुष्टि हुई थी और संक्रमण दर 9.35 फीसदी रही थी.

भारत में ओमीक्रोन के सबसे अधिक मामले

भारत में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट और उसके सब-वेरिएंट से संक्रमण के सबसे अधिक मामले आ रहे हैं, जबकि कुछ मामले अत्यधिक संक्रामक बीए.2.75 सब-वेरिएंट के भी पाए गए हैं. ‘इंडियन सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम’ (आईएनएसएसीओजी) ने जानकरी देते हुए बताया कि बीए.2.75 सब-वेरिएंट के प्रसार पर हर राज्य में करीबी नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही आईएनएसएसीओजी ने अपनी बुलेटिन में कहा कि भारत में ओमिक्रॉन और उसके सब-वेरिएंट के सबसे अधिक मामले आ रहे हैं और ज्यादातर बीए.2 और बीए.2.38 उप-स्वरूप के मामले पाए गए हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 + 6 =

Back to top button