सर्वदलीय बैठक में बोले प्रधानमंत्री मोदी, किसान और मेरे बीच बस एक कॉल की दूरी

संसद में बजट सत्र को लेकर हुई सर्वदलीय बैठक के दौरान पीएम मोदी ने किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान दिया। प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक के दौरान आश्वासन दिया कि सरकार खुले दिमाग से कृषि कानूनों के मुद्दे पर विचार कर रही है। साथ ही सरकार का रुख वैसा ही है, जैसा 22 जनवरी को था, और कृषि मंत्री द्वारा दिया गया प्रस्ताव अभी भी कायम है। उन्होंने दोहराया कि कृषि मंत्री को सिर्फ एक फोन कॉल करके बातचीत को आगे बढ़ाया जा सकता है।

सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार

सर्वदलीय बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने जानकारी दी है कि प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार बैठक में नेताओं द्वारा उठाए गए मुद्दों पर विस्तृत चर्चा के लिए तैयार है। उन्होंने संसद के सुचारू कामकाज और सदन के पटल पर व्यापक बहस के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सदन में बार-बार होने वाले व्यवधानों के कारण छोटे राजनीतिक दलों को पर्याप्त रूप से खुद को व्यक्त करने का अवसर नहीं मिल पाता है। उन्होंने कहा कि बड़े राजनीतिक दलों यह सुनिश्चित करना चाहिए कि संसद सुचारू रूप से चले, कोई व्यवधान न हो और इस प्रकार, छोटे दल संसद में अपने विचार रखने में सक्षम हों।

पीएम ने यूएसए में महात्मा गांधी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने की घटना की निंदा

इससे पहले प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि हमें उनके सपनों को पूरा करने की दिशा में प्रयास करना चाहिए। उन्होंने आज सुबह यूएसए में महात्मा गांधी की प्रतिमा को नुकसान पहुँचाने की घटना की निंदा करते हुए कहा कि नफरत का ऐसा माहौल हमारी दुनिया के लिए स्वागत योग्य नहीं है।

बतातें चलें कि संसद का बजट सत्र (Budget Session 2021) शुक्रवार से शुरू हो गया है। 1 फरवरी को आम बजट (Union Budget 2021) पेश किया जाएगा। जैसा कि पहले से अनुमान लगाया जा रहा है कि किसान आंदोलन(Farmers Protest) को लेकर बजट सत्र में हंगामा हो सकता है। सत्र के  पहले ही दिन कई विपक्षी पार्टियों ने संसद परिसर में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

Back to top button