लखीमपुर खीरी हिंसा में मरने वालों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आई,किसी को घसीटने से तो किसी की लाठी-डंडों की पिटाई से हुई

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) में मरने वालों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है, जिससे खुलासा हुआ है कि किसी भी किसान की मौत गोली लगने से नहीं हुई थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट (Postmortem Report) में सामने आया है कि किसी की मौत घसीटने से तो किसी की लाठी-डंडों की पिटाई से हुई है.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या आई मौत की वजह?

1. लवप्रीत सिंह (किसान)- घिसटने से हुई मौत. शरीर पर चोट के निशान मिले. शॉक और हेमरेज मौत की वजह.
2. गुरविंदर सिंह (किसान)- दो चोट और घिसटने के निशान मिले. धारदार या नुकीली चीज से आई चोट. मौत की वजह शॉक और हेमरेज.
3. दलजीत सिंह (किसान)- शरीर पर कई जगह घिसटने के निशान. यही मौत की वजह बनी.
4. छत्र सिंह (किसान)- मौत से पहले शॉक, हेमरेज और कोमा. घिसटने के भी मिले निशान.
5. शुभम मिश्रा (बीजेपी नेता)- लाठी और डंडो से हुई पिटाई. शरीर पर दर्जनभर से ज्यादा जगहों पर चोट के निशान मिले.
6. श्याम सुंदर (बीजेपी कार्यकर्ता)- लाठी और डंडों से पिटाई. घिसटने से दर्जनभर से ज्यादा चोटें आईं.
7. हरिओम मिश्रा (अजय मिश्रा का ड्राइवर)- लाठी-डंडों से पिटाई. शरीर पर कई जगह चोट के निशान. मौत से पहले शॉक और हेमरेज.
8. रमन कश्यप (स्थानीय पत्रकार)- शरीर पर पिटाई के गंभीर निशान. शॉक और हेमरेज से मौत हुई.

किसने रची लखीमपुर खीरी हिंसा की साजिश?

आखिर लखीमपुर खीरी हिंसा की साजिश किसने रची और लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार कौन है? क्या लखीमपुर खीरी में किसानों के बीच अराजक तत्व शामिल थे. ये कुछ ऐसे सवाल हैं, जिनके जवाब अभी मिलने बाकी हैं. यूपी सरकार ने हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज से मामले की जांच कराने का ऐलान किया है, लेकिन इस बीच हिंसा को लेकर सियासत भी जारी है.

सीएम योगी ने दिया कड़ी कार्रवाई का भरोसा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा है कि इस पूरे मामले की जांच हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराई जाएगी. हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 45-45 लाख रुपये और घायलों को 10-10 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − 4 =

Back to top button