लखनऊ व कानपुर की सड़कों पर दौड़ेगीं यह बसें, नैमिषारण्य व लखनऊ के लिए कुछ बसें होगीं आरक्षित

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नगरीय क्षेत्र में सार्वजनिक परिवहन की ध्वनि तथा वायु प्रदूषण से मुक्त परिवहन सेवा समय की मांग हैं।  राज्य के दो सबसे बड़े महानगरों लखनऊ तथा कानपुर नगर के लिए इलेक्ट्रिक बस सेवा का फ्लैग ऑफ इसी श्रृंखला की कड़ी है। कुछ बसें वैकल्पिक रूप से लखनऊ और नैमिषारण्य के मध्य संचालित करने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि नैमिषारण्य वैदिक और पौराणिक ज्ञान की आधार भूमि व श्रवण परम्परा को लिपिबद्ध करने का श्रेय नैमिषारण्य को जाता है।

लखनऊ (आरएनएस)

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर लखनऊ एवं कानपुर नगर के लिए नगर विकास विभाग के अन्तर्गत 42 नई इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि नगर विकास विभाग ने विगत 05 वर्षों में प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप प्रदेश की नगरीय सुविधाओं को बेहतरीन तरीके से आगे बढ़ाने का कार्य किया है। देश में स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किये जा रहे 100 शहरों में से 10 उत्तर प्रदेश में हैं। स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत देश में जिन टॉप 10 शहरों में बेहतरीन कार्य हुए हैं, उनमें उत्तर प्रदेश के 02 शहर आगरा व वाराणसी सम्मिलित है। राज्य के अन्य 07 नगर निगमों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा राज्य स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत कार्यवाही को आगे बढ़ाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देश में सर्वाधिक शहरों में मेट्रो संचालन वाला राज्य उत्तर प्रदेश है। वर्तमान में राज्य के 05 शहरों में मेट्रो संचालित हो रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कुछ दिनों पूर्व दक्षिण भारत के एक सज्जन उनसे भेंट करने आये थे। उन्होंने नैमिषारण्य के विषय में जिज्ञासा जाहिर की थी। नैमिषारण्य वैदिक और पौराणिक ज्ञान की आधार भूमि है। श्रवण परम्परा को लिपिबद्ध करने का श्रेय नैमिषारण्य को जाता है। आज वहां पर्यटन और संस्कृत विभाग द्वारा विकास के कार्य किये जा रहे हैं, जिससे नैमिषारण्य को सुविधा से युक्त ऐसे स्थल के रूप में विकसित किया जा सके, जो प्रत्येक भारतवासी के मन में आत्मीयता का भाव जागृत कर सके। यह वैदिक ज्ञान भारत की ऐसी धरोहर है जो विश्व कल्याण, मानव कल्याण, जीव कल्याण तथा ब्रह्माण्ड के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नगर विकास विभाग द्वारा आज प्रारम्भ की जा रही इलेक्ट्रिक बसों में से कुछ बसें वैकल्पिक रूप से लखनऊ और नैमिषारण्य के मध्य संचालित करने की व्यवस्था की जा रही है। शीघ्र ही लखनऊ से नैमिषारण्य तक हेलिकॉप्टर की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि नगर विकास राज्य मंत्री राकेश राठौर गुरु जी नैमिषारण्य के ही रहने वाले हैं। नैमिषारण्य के लिए यह सुविधा नगर विकास राज्य मंत्री बनने के बाद ही प्राप्त हुई है।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने कहा कि नगरीय प्रशासन क्या होता है, यह देश नें 2014 से तथा उत्तर प्रदेश ने 2017 से देखा है। देश की 35 प्रतिशत जनसंख्या नगरीय क्षेत्रों में रहती है। जबकि नगरों का क्षेत्रफल देश का मात्र 03 प्रतिशत है। नगर हमारे ग्रोथ सेंटर है। प्रधानमंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था को 05 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने का संकल्प लिया है। जिसके अनुरूप मुख्यमंत्री ने प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 01 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने का संकल्प लिया है। इसे पूरा करने के लिए शहरों में सक्षम व्यवस्था आवश्यक है। आज का कार्यक्रम उसी व्यवस्था का एक हिस्सा है।

Tags : #upnews #uttarpradesh #politics #transportation #lucknow #kanpur #electronicbuses #hindinews #departmentofurbandevelopment

Rashtriya News

Related Articles

Back to top button